Type to search

अब महाराज आशु ‘खान’ भी पहुंच गए जेल के अंदर


दिल्ली के जाने माने एस्ट्रो गुरुजी आशु भाई महाराज की दुकान जो कल तक चमक रही थी. आज उस पर सन्नाटा पसरा है. हमेशा टीवी पर छाए रहने वाले गुरुजी स्क्रीन से नदारद हैं. मगर सवाल ये कि जिसके दरबार में भक्तों की लाइन लगी रहती थी. वो खुद मुजरिमों की लाइन में क्यों खड़ा है. क्यों जिस गुरुजी की एक झलक पाकर खुद को निहाल समझने वाले लोग अब उसे पानी पी-पीकर कोस रहे हैं.

देश में जिस तेज़ी से रुपया गिर रहा है उससे कहीं ज्यादा तेज़ी से अपने बाबा गिर रहे हैं. इन गिरे-पड़े बाबाओं की गिनती कहां जाकर खत्म होगी दावे से कुछ नहीं कहा जा सकता. देश के तमाम ढोंगी बाबाओं पर पिछले कई सालों से आफत आई हुई है. उत्तर से लेकर दक्षिण तक.. पूरब से लेकर पश्चिम तक एक के बाद एक गिरे-पड़े बाबा धरे जा रहे हैं. पर अभी-अभी जो सबसे ताज़ा बाब धरे गए हैं, उनका तो कहना ही क्या. बरसों लोगों की किस्मत और उनका भविष्य बताते रहे. पर अफसोस अपना ही भविष्य देखना भूल गए. अगर देख लेते तो जेल से बचने का उपाय जरूर कर लेते. जी हां, गैंगरेप के आरोपी महाराज आशु खान चार दिन की लुकाछुपी के बाद आखिरकार धर लिए गए.

पुलिस के हत्थे चढ़े आशुभाई गुरुजी

हिंदुस्तान की जेल में एक एक करके गुरू घंटालों का कारवां बनता जा रहा है. अब इस कारवां में एक और नाम शामिल कर लीजिए. आशु भाई गुरुजी उर्फ आसिफ खान गुरुघंटाल. क्योंकि करीब 4 दिन की फरारी के बाद अब ये बाबा भी दिल्ली पुलिस हत्थे चढ़ ही गए. पुलिस के शिकंजे में आ ही गए आसिफ खान उर्फ आशुभाई गुरुजी महाराज.

धर्म बदलकर भक्तों को दिया धोखा

पहले मुसलमान से हिंदू बनने के बाद तक़दीर ने आशुभाई की ज़िंदगी बदली. फिर आसिफ खान ने आशुभाई बनकर लोगों की किस्मत बदलने का धंधा शुरू कर दिया. और अब वक्त का पहिया फिर पलटा है. अब अदालत तय करेगी दिल्ली के इस गुरू घंटाल आशु भाई गुरूजी की तकदीर. क्योंकि शाहदरा एएटीएस यानी एंटी आटो थेफ्ट स्क्वॉयड ने इस ढोंगी को गाज़ियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है.

आशुभाई गुरुजी का खेल ख़त्म!

क्राइम ब्रांच के हवाले किए जाने के बाद अब आसिफ ख़ान उर्फ आशु भाई गुरुजी महिला के रेप और उसके बेटी से छेड़छाड़ के मामले में पूछताछ की जा रही है. इस गुरु घंटाल से अब क्राइम ब्रांच बेहद तीखे सवाल कर रही है. मसलन-

* पीड़ित महिला को कब से जानता थे?

* आश्रम में कब से आ रही थी महिला?

* पीड़ित महिला के साथ रेप किया गया?

* क्या बेटे और साथियों ने भी किया रेप?

* क्या इलाज के नाम पर अश्लील हरकतें की?

* महिला की बेटी से भी रेप किया?

* रोहिणी आश्रम में क्या गतिविधियां होती हैं?

डॉक्टर की सलाह पर दर्ज कराया मुकदमा

दिल्ली की क्राइम ब्रांच आशुभाई से हौज़खास थाने में पूछताछ कर रही है. जहां इस मामले से जुड़ी तमाम कड़ियों को जोड़ने की कोशिश की जा रही है. क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के मुताबिक गाज़ियाबाद के इंदिरापुरम की रहने वाली पीड़ित मां-बेटी बीते 4 सितंबर को इलाज के लिए हौजखास में एक डॉक्टर के पास आई थीं. जहां जांच के बाद डॉक्टर ने उसे आशुभाई और दूसरे आरोपियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत करने की सलाह दी. डॉक्टर की सलाह पर पीड़ित महिला ने 9 सितंबर को हौज़खास थाने में आशुभाई गुरुजी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया.

आस्था का एक और लुटेरा

तब से ही पुलिस आशुभाई गुरुजी को ढूंढ रही थी. मगर पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद से बाबा फरार था. पुलिस ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए ये केस क्राइम ब्रांच को सौंप दिया. जांच तेज़ हुई बाबा के सभी ठिकानों जिसमें कोहाट इंक्लेव के उसके मकान. रोहिणी के आश्रम और हौज़खास में छापेमारी हुई.

बाबा तो नहीं मिला मगर क्राइम ब्रांच का सामना यहां बाबा की हकीकत से हुआ. पता चला कि निर्वाचन आयोग की वोटर लिस्ट में आशु भाई गुरुजी की फोटो के सामने उसका नाम आसिफ खान दर्ज है. अब आलम ये है कि दूसरों का हाथ देखकर भविष्य बताने का दावा करने वाला आशु महाराज उर्फ आसिफ की खुद की किस्मत अदालत के हाथों में है.


Tags::