यहाँ सर्च करे

जब राहुल गाँधी के सामने ही लड़ने लगे ये दो बड़े नेता तो…


मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए उम्मीदवारों का चयन बडा सिरदर्द बनता जा रहा है। खबर है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह और दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच तीखी कहासुनी हो गई। यह बैठक राहुल गांधी की मौजूदगी में एमपी के उम्मीदवारों की लिस्ट को अंतिम रूप देने के लिए बुलाई गई थी।

पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में अपने-अपने उम्मीदवारों को टिकट दिलाने के लिए वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आपस में भिड़ गए। शुरुआती बहस कुछ ही देर में तीखी नोक-झोंक में बदल गई। दोनों में काफी वक्त तक तू-तू-मैं-मैं भी चलता रहा। बता दें यह सब कुछ कांग्रेस अध्यक्ष की मौजूदगी में हुआ।

बनानी पड़ी समिति:

दोनों के बीच जब बात नहीं बनी तो विवाद सुलझाने के लिए राहुल गांधी को तीन सदस्यीय समिति बनानी पड़ी। सूत्रों के मुताबिक सिंधिया और दिग्विजय की खुली जंग से राहुल के चेहरे पर गुस्सा साफ देखा जा सकता था।

तीन सदस्यीय समिति के सदस्यों अशोक गहलोत,वीरप्पा मोइली और अहमद पटेल की इस समिति ने पार्टी के वॉर रूम 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड में रात 2:30 बजे तक मामले को सुलझाने के लिए बैठक की।

लेकिन समिति की बैठक में पूरा मामला नहीं सुलझ सका, इसलिए आज सुबह 9 बजे से फिर बैठक जारी है। पार्टी की ओर से सभी नेताओं को इस विवाद पर कुछ भी बोलने से मना कर दिया गया है।

नामांकन की प्रक्रिया 2 नवंबर से शुरू होगी:

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया 2 नवंबर से शुरू हो रही है, जो 9 नवंबर तक चलेगी। इसको ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने 5 नवंबर तक अपनी सभी लिस्ट जारी करने की संभावना जताई है।