यहाँ सर्च करे

बनारस में दिखी अखिलेश यादव के दीवानों की दीवानगी, पुलिस-प्रशासन के छुटे पसीने


वाराणसी पुलिस-प्रशासन के लिए गुरुवार शाम काफी परेशानियों के साथ गुजरा। शहर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मौजूदगी इसका कारण रहा। ऐसा पहली बार हुआ जब मुख्यमंत्री योगी और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक साथ वाराणसी में थे। इस बीच सुरक्षा और यातायात व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप की स्थिति रही। सीएम योगी ने जहां पीएम के दौरे के मद्देनजर हालात का जायजा लिया तो वहीं पूर्व सीएम अखिलेश खिड़किया घाट पर आयोजित गोवर्धन पूजा में शामिल हुए। अखिलेश यादव के इस कार्यक्रम में उम्मीद से ज्यादा भीड़ उमड़ी। इस दौरान कई बार स्थिति अराजक हुई। भीड़ में कई बार धक्कामुक्की की नौबत भी आई। कार्यक्रम स्थल की ओर जाने वाली तमाम सड़कें दोपहर बाद से ही जाम रही।

अखिलेश यादव के खिड़किया घाट पहुंचते ही वहां मौजूद सपा नेता उनके पास जाने के लिए धक्का-मुक्की करने लगे। अखिलेश यादव जब मंच पर पहुंच गये तो सुरक्षाकर्मियों ने मंच को पूरी तरह से अपने घेरे में ले लिया। इस दौरान कई सपा नेता मंच पर चढ़ने के लिए सुरक्षाकर्मियों से नोक झोंक करते रहे। अखिलेश यादव के कार्यक्रम स्थल से जाने तक कई बार सपा नेताओं ने सुरक्षाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की भी की इस दौरान सीओ दशाश्वमेध अभिनव यादव के हाथ में चोट भी आ गई।

पूर्व के वर्षों की भांति ही खिड़किया घाट की ओर जाने वाला कोतवाली थाना अंतर्गत मैदागिन चौराहा से कबीरचौरा और विश्वेशरगंज की ओर जाने वाला दोपहर से जाम की जद में रहा। आगे निकलने का रास्ता राहगीरों को नहीं मिल पा रहा था। आगे निकलने की होड़ में अफरातफरी का माहौल रहा। आमजन की तेजी से बढ़ती भीड़ देख सुरक्षा व्यवस्था में तैनात पुलिसकर्मियों और पीएसी के जवानों में हड़कंप की स्थिति रही। क्षेत्र में और पुलिसकर्मी बुलाए गए। रह रह कर समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव के नारे लगते रहे।


Tags::

You Might also Like