यहाँ सर्च करे

अगर पुलिस अधिकारी पढ़ लेते यह ई-मेल तो ना होता अमृतसर रेल हादसा


दशहरा के अवसर पर जहां देशभर में सभी लोग रावण दहन कर रहे थे वहीं अमृतसर रेल हादसे ने कई लोगों की जान ले ली थी ।

दशहरा के अवसर पर जहां देशभर में सभी लोग रावण दहन कर रहे थे वहीं अमृतसर रेल हादसे ने कई लोगों की जान ले ली थी । इस घटना के रेल प्रशासन पर कई सवाल खड़े भी हुए थे । वहीं अब हुए इस रेल हादसे के बाद एक और खुलासा हुआ है ।

दरअसल दशहरा के मौके पर सुरक्षाबलों और पुलिस की तैनाती की गई थी । जिसके लिए जीआरपी ने 18 और 19 अक्टूबर की मध्यरात्रि 12:53 बजे पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय ने रेलवे पुलिस (जीआरपी) सहित क्षेत्र के सभी थानों को दशहरे के मद्देनजर सुरक्षा प्रबंध पुख्ता करने के लिए ईमेल भेजा था । वहीं जीआरपी और जांच अधिकारियों ने पुलिस प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि, अगर पुलिस प्रशासन ने गंभीरता से नहीं लिया जिसके चलते यह हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि जिस दिन हादसा हुआ था उस दिन इस हादसे की जानकारी अगले स्टेशन पर स्टेशन मास्टर को दी गई थी ।