यहाँ सर्च करे

राम ने बनाया प्रधानमंत्री परंतु राम मंदिर बनाना भूल गए, अब किन्नर अपना खून बहा…


प्रवक्ता अनीता ने कहा कि "राम को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री तो बन गए परंतु सरकार बने इतने साल हो गए, लेकिन कोई ठोस जवाब अब तक नहीं दिया, लेकिन इस बार हम राम मंदिर के लिए हम आगे आएंगे, चाहे इसके लिए हमें अपना खून भी बहाना पड़े".

देश में राम मंदिर का मु्द्दा गरमाया हुआ है, हर कोई मोदी सरकार से सवाल कर रहा है कि अब नहीं तो कब? इसी बीच किन्नर समुदाय ने भी राम मंदिर पर अपनी सहमती जताई है और सरकार पर कई तरह के सवाल भी खड़े कर दिए है। किन्नर अखाड़े की प्रमुख महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनना ही चाहिए। राम मंदिर के लिए किन्नर समुदाय अपने खून का एक-एक कतरा बहाने को तैयार है।

तो वहीं महामंडलेश्वर त्रिपाठी और किन्नर अखाड़े की प्रवक्ता अनीता मां ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर जरूर बनेगा और जरूरत पड़ेगी तो किन्नर अपने खून से सींचकर राम मंदिर बनाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक पार्टिया को राम मु्द्दे पर लोगों को गुमराह कर रही है।

वो आगे कहती है कि राम का जन्म अयोध्या में हुआ, वह राम लला की जन्मभूमि है। अब मंदिर वहां नहीं तो क्या केरल में बनेगा? अनीता मां कहती हैं कि भाजपा सरकार नहीं चाहती कि राम मंदिर बने। वे चुनाव के समय ही राम मंदिर का मुद्दा उठाती हैं, झगड़े कराती हैं और हर बार मंदिर के नाम से वोट मांगने आ जाती हैं।

प्रवक्ता अनीता ने कहा कि “राम को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री तो बन गए परंतु सरकार बने इतने साल हो गए, लेकिन कोई ठोस जवाब अब तक नहीं दिया, लेकिन इस बार हम राम मंदिर के लिए हम आगे आएंगे, चाहे इसके लिए हमें अपना खून भी बहाना पड़े”.


Tags::

You Might also Like