यहाँ सर्च करे

T20 World Cup: दर्द में दोड़ना मुश्किल था इसलिए छक्के-चौके लगा बटोरे रन- हरमनप्रीत


महिलाओं का टी-20 वर्ल्ड कप शुरु हो गया है जहां कल भारत अपना पहला मुकाबला न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलने उतरा था। जिसमें भारत ने हरमनप्रीत कौर की शतकीय पारी की बदौलत न्यूजीलैंड को 34 रन से मात दे दी थी। बता दें कि इस मैच में भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने सात चौको और आठ छक्को की मदद से 51 गेंद में 103 रन बनाए। लेकिन इस मैच में हरमनप्रीत की तबीयत कुछ सही दिखाई नहीं पड़ रही थी। हालांकि दर्द से परेशान दिख रहीं हरमनप्रीत ने खूब लंबे-लंबे छक्के लगाए पर मैच के बाद उन्होंने बताई सच्चाई, उन्होंने कहा- उन्हें पेटदर्द था, दर्द ज्यादा ना बढ़े इसलिए ज्यादातर रन छक्के और चौके से बटोरे, भागने में विश्वास नहीं रखा।

पेट दर्द के दौरान किसी भी खिलाड़ी का ज्यादा देर तक मैदान पर रहना काफी मुश्किल हो जाता है। और अगर बात ज्यादा दौड़ लगा कर रन बटोरने की हो तो वो फिर और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है। तो बस ये ही सोच हरमनप्रीत की रही और फिर उन्होंने बाउंड्री लगाने की योजना बनाई और टीम को एक मजबूत स्कोर तक पहुंचाया।

मैच के बाद भारतीय कप्तान हरमनप्रीत ने बताया, ‘गुरुवार को मेरी पीठ में थोड़ी परेशानी थी। शुक्रवार सुबह भी मैं खुद अच्छा नहीं महसूस कर रही थी। मैं जब मैदान पर आई तो थोड़ा असहज थी और कुछ जकड़न भी थी।’

उन्होंने बताया, ‘जकड़न के कारण मुझे दौड़कर रन लेने में दिक्कत हो रही थी, इसके बाद मैंने दूसरी योजना बनाई। मैंने जब शुरू में दो-दो रन लेने शुरू किए, तो मुझे थोड़ी जकड़न महसूस हुई। इसके बाद फिजियो ने मुझे दवा दी तब स्थिति थोड़ी ठीक हुई।’

भारतीय कप्तान के मुताबिक, ‘ऐसी स्थिति में मैंने सोचा कि ज्यादा दौड़ने की बजाय मुझे बड़े शॉट खेलने होंगे, क्योंकि मैं जितना ज्यादा दौड़ती जकड़न बढ़ती जाती। मैंने जेमिमा से कहा कि अगर तुम मुझे स्ट्राइक दोगी तो मैं अधिक बड़े शॉट खेल सकती हूं।’

हरमनप्रीत ने कहा, ‘मेरे दिमाग में यह नहीं था कि मैं कितने रन बना रही हूं, बस मेरा ध्यान इस पर था कि मैच जीतने के लिए हम कम से कम कितने और रन बना लें। हमें पता था कि न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी काफी अच्छी है।’


Tags::