यहाँ सर्च करे

‘आयरन लेडी’ इंदिरा गांधी का वो अंतिम भाषण, जब हो गए थे सब भावुक


इंदिरा गांधी की आज पुण्यतिथि है। ‘आयरन लेडी’ इंदिरा गांधी देश की तीसरी और पहली महिला प्रधानमंत्री रही। इंदिरा गांधी का राजनीतिक सफर उनके पिता और देश के पहले प्रधानमंत्री रहे जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद शुरू हुआ। इंदिरा ने पहली बार देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के कार्यकाल में सूचना और प्रसारण मंत्री का पद संभाला था। जहां शास्त्री जी के निधन के बाद इंदिरा गांधी को देश की तीसरी प्रधानमंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। वर्ष 1971 में इंदिरा गांधी को भारत रत्न से सम्मानित भी किया गया।

इंदिरा मात्र एक नाम नहीं था वो एक शक्ति थी। ‘आयरन लेडी’ ने ना सिर्फ देश बल्कि विदेश में भी अपने बुलंद हौसलों से नाम कमाया। वो भारत की पहली ऐसी सशक्‍त महिला प्रधानमंत्री थीं, जिनके हौसलों से पूरी दुनिया पस्त थी। यह इंदिरा के बुलंद हौसले ही थे जिसकी बदौलत बांग्‍लादेश एक स्‍वतंत्र राष्‍ट्र के रूप में अस्तित्‍व में आया। यहां तक की भारत ने उनके ही राज में पहली बार अंतरिक्ष में अपना झंडा स्‍क्‍वाड्रन लीडर राकेश शर्मा के रूप में फहराया था।

इंदिरा का नाम ऐसे ही ‘आयरन लेडी’ नहीं पड़ा, उनके काम ने उन्हें ऐसा बनाया। जी हां उनके कार्य़काल में ऐसा समय आया जब उन्होंने पंजाब में फैले उग्रवाद को उखाड़ फेंकने के लिए स्‍वर्ण मंदिर में सेना तक भेजी दी थी। वो ‘आयरन लेडी’ इंदिरा ही थी जो भारत को परमाणु शक्ति संपन्‍न देश बनाने को लेकर अग्रसरी रही।

इंदिरा के कार्यकाल में कई फैसले ऐसे आए जिससे उनकी सरकार की किरकिरी हुई। लेकिन बावजूद इसके उनके कठोर निर्णय लेने की काबिलियत ने उनके सभी प्रतिद्वंदी को अपना मुरीद कर लिया था। इंदिरा का अंतिम भाषण सुन आपको भी गर्व महसूस होगा।

 

इंदिरा का अंतिम भाषण कर गया था भावुक

‘आयरन लेडी’ इंदिरा गांधी का 30 अक्‍टूबर को दिया अपना अंतिम भाषण बहुत कुछ कहता है। उनके इस भाषण ने सभा में मौजूद सभी लोगों को भावुक कर दिया था। इंदिरा का भाषण कुछ इस तरह था “मैं आज यहां हूं, कल शायद यहां न रहूं, मुझे चिंता नहीं मैं रहूं या न रहूं, मेरा लंबा जीवन रहा है और मुझे इस बात का गर्व है कि मैंने अपना पूरा जीवन अपने लोगों की सेवा में बिताया है, मैं अपनी आखिरी सांस तक ऐसा करती रहूँगी और जब मैं मरूंगी तो मेरे खून का एक-एक कतरा भारत को मजबूत करने में लगेगा”.