Type to search

उत्तर प्रदेश: अयोध्या में ये दिवाली योगी आदित्यनाथ के उपहार वाली…संतों के…


देश में सबसे बड़ा मुद्दा बन चुका अयोध्या अब सजने वाला है। जिस राम की वजह से दिवाली मनाई जाती है आज उसी राम नाम पर देश भर में राजनीति हो रही है। खैर अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद से ही साधु-संतों में आक्रोश है जो की आगे जा कर भाजपा के लिए मुसिबत बन सकता हैं। तो शायद ये ही एक वजह हो सकती है सीएम योगी की दिवाली अयोध्या में बनाए जाने की.

भाजपा की मुसिबत एक नहीं है जहां विपक्ष भगवा दल पर हमला कर रहा है तो दूसरी तरफ भाजपा का वोट बैंक यानी की संत समाज और हिंदूवादी संगठनों भी भाजपा पर दबाव बनाए हुए है। जहां अब योगी आदित्यनाथ का एक बयान सामने आया है जिसकी कई मतलब समझ में आ रहे हैं। सीएम योगी ने कहा है कि वो इस दिवाली एक अच्छी खबर लेकर अयोध्या जाएंगे।

क्या हो सकती है CM योगी की वो सौगात?

अयोध्या में ये दिवाली योगी आदित्यनाथ के उपहार वाली हो सकती है। इस बात को योगी खुद कह रहे है कि वो अच्छी खबर लेकर अयोध्या जाएंगे तो इससे एक बात तो साफ है कि राम नाम पर सियासत के अलावा कुछ नहीं हो रहा औऱ सुनवाई टलने पर संतों की नाराजगी का मुद्दा भी योगी जी के दिमाग में अवश्य होगा।

खैर जब सीएम योगी से संतों की नाराजगी पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा था कि राम मंदिर का मुद्दा सैकड़ों सालों से चल रहा है, एक तारीख के बढ़ने से संतों को धैर्य नहीं खोना चाहिए। तो इससे ये माना जा रहा है कि योगी अयोध्या जाकर संतों को कुछ आश्वासन दे सकते हैं। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि योगी कौन-सी अच्छी खबर लेकर जा रहे हैं।

जनवरी 2019 तक टल गई है सुनवाई

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को कहा कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना हक विवाद मामले में दायर दीवानी अपीलों को जनवरी, 2019 में एक उचित पीठ के सामने सूचीबद्ध किया जाएगा। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसफ की पीठ ने यह बात कही।


Tags::

You Might also Like