यहाँ सर्च करे

नक्सली हमला में DD के कैमरामैन की मौत के बाद सामने आया सह-मीडियाकर्मी का वीडियो


इस वीडियो में मोर मुकुट शर्मा कह रहे है कि "मम्मी अगर मैं जीवित बचा, गनीमत है। मम्मी मैं तुझे बहुत प्यार करता हूं। हो सकता है इस हमले में मैं मारा जाऊं। परिस्थिति सही नहीं है। पता नहीं क्यों? मौत को सामने देखते हुए डर नहीं लग रहा है। बचना मुश्किल है यहां पर".

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले ने दो पुलिसकर्मी और एक डीडी के कैमरामैन की जान ले ली थी। जिसके बाद डीडी न्यूज़ के कैमरामैन के असिस्टेंट का एक वीडियो सामने आया है। बता दें इस असिस्टेंट कैमरामैन का नाम मोर मुकुट शर्मा है जहां इस वीडियो में वो पूरी कहानी बयां कर रहा है और साफतौर पर इस वीडियो में गोलीबारी की आवाज भी सुनी जा सकती है। इस वीडियो में मोर मुकुट शर्मा कह रहे है कि “मम्मी अगर मैं जीवित बचा, गनीमत है। मम्मी मैं तुझे बहुत प्यार करता हूं। हो सकता है इस हमले में मैं मारा जाऊं। परिस्थिति सही नहीं है। पता नहीं क्यों? मौत को सामने देखते हुए डर नहीं लग रहा है। बचना मुश्किल है यहां पर”…और फिर वीडियो बंद हो जाती है। इस वीडियो में उस मीडियाकर्मी ने अपने सामने चल रही उस मौत की घड़ी को बयां किया है जिससे पार पाना मुश्किल है।

मंगलवार को हुए दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाने के अंतर्गत नीलावाया जंगल में नक्सलियों ने चुनाव ड्यूटी पर निकले मीडियाकर्मियों पर हमला कर दिया। इस हमले दो जवानों के साथ ही डीडी न्यूज़ के कैमरामैन अच्युतानंद साहू शहीद हो गए थे जिसके बाद उस मीडियाकर्मी के असिस्टेंट मोर मुकुट शर्मा ने एक छोटा सा वीडियो बनाया जो अब वायरल हो रहा है। खबर के मुताबिक मीडियाकर्मियों के साथ कुल 6 -7 सुरक्षाकर्मी थे जबकि सामने थे 200 नक्सली।




ये वीडियो असिस्टेंट कैमरामैन मोर मुकुट शर्मा ने इसीलिए शूट किया, क्योंकि शायद उन्हें लगा था कि अब वो नहीं बचेंगे। उन्होंने वीडियो रिकॉर्ड किया और अपनी मां के प्रति प्रेम दिखाया। दंतेवाड़ा जिले में कुछ दिनों में हुआ ये दूसरा हमला था।

आपको बता दें कि असिस्टेंट कैमरामैन के लिए वो समय बेहत कठिन था। वो प्यास के मारे मरे जा रहे थे, एक समय ऐसा आया जब उन्होंने खुद अपने पेशाब को पी कर अपनी प्यास मिटानी चाही। वो नक्सलियों से बच कर झाड़ियों में छूपे हुए थे, लेकिन वीडियो में साफतौर पर देखा जा सकता है कि किस प्रकार उन्हें खुद मालूम था की मौत उनके नजदीक है।

मोर मुकुट शर्मा ने बताया सच

मीडिया चैनल से बात करते हुए मोर मुकुट शर्मा ने बताया कि उन्हें मामूली चोटें आयी हैं। उन्होंने बताया कि साहू को सिर में गोली लगी थी, जिसके कारण उनकी मौत हो गई। शर्मा ने वहां के मंजर पर और रोशनी डालते हुए बताया कि नक्सलियों ने साहू की गर्दन को भी पीछे से काट दिया था। बहरहाल आपको बता दें की बुधवार को सुरक्षा बल के एक और जवान ने दम तोड़ दिया। अब इस हमले में मारे गए लोगों की कुल संख्या चार हो गई है।