यहाँ सर्च करे

हेल्थ पॉलिसी लेते समय इन बातों का अवश्य ध्यान रखें


बीमारियां कभी निश्चित नहीं होती ना जानें किसे कब हो जाए, इसका पता नहीं लगाया जा सकता। व्यक्ति भविष्य में होने वाली अनचाही बिमारियों से बचने के लिए सेविंग्स करता है या फिर अपना इंश्योरेंस कराता है। अगर आप भी सेविंग्स के बजाय अपना और अपने परिवार का इंश्योरेंस लेते हैं तो यह आपके लिए बहुत मददगार साबित होगा। पर अगर आपने इंश्योरेंस नहीं लिया है और लेने के बारे में सोच रहे हैं तो इंश्योरेंस लेते समय इन बातों का जरुर ध्यान रखें।

पॉलिसी में कमरे का चार्ज तय ना हो

हेल्थ इंश्योरेंस लेते समय पॉलिसी के बारे में ध्यान से जरुर पढ़ लें। हेल्थ इंश्योरेंस में कई पॉलिसीस होती हैं, हर एक पॉलिसी को ध्यान से पढ़े और फिर चुनें। कई हेल्थ पॉलिससी में अस्पताल के कमरे का चार्ज तय होता है, ध्यान दें कभी भी तय राशि वाली पॉलिसी न लें क्योंकि इन पॉलिसीस में अगर आपके कमरे का चार्ज तय पॉलिसी से ज्यादा है तो कंपनी अतिरिक्त राशि आपसे वसूल करेंगी। इसलिए ऐसी पॉलिसी को प्राथमिकता दें जिसमें कमरे का चार्ज तय न हो।

पॉलिसी में ‘को-पेमेंट’ की सुविधा जरुर देख लें

ऐसी पॉलिसी लें जिसमें को-पेमेंट की सुविधा उपलब्ध हो। को-पेमेंट वह राशि होती है जो हॉस्पिटालाइजेशन के दौरान कंपनी द्वारा ग्राहक या पीड़िता को दी जाती है। हेल्थ पॉलिसी लेते समय देख लें कि आपके घर या इलाके में आसपास कौन से अस्पताल हैं और वे अस्पताल आपकी ली गई पॉलिसी में हैं या नहीं।