यहाँ सर्च करे

पीरियड्स पर बात करने से क्यों शरमाती हैं लड़कियां, जानिए


लड़के और लड़कियों को स्कूल में एक साथ पीरियड्स के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए ताकि लड़कियों के मन से पीरियड्स को लेकर शर्म दूर हो जाए और लड़कों के अंदर लड़कियों के प्रति सम्मान और पीरियड्स को लेकर जागरूकता आए।

नई दिल्ली- पीरियड्स एक ऐसा विषय है जिसपर लड़के तो दूर लड़किया भी डिस्कस करने से कतराती हैं। खैर गलती उनकी भी नहीं है। समाज ने पीरियड्स को लेकर ऐसी भ्रांती बना दी है कि ना चाहते हुए भी वो मानने को मजबूर हो जाती हैं। आज भी हमारे समाज में पीरियड्स पर खुलकर बात नहीं की जाती। इसे गुप्त रखा जाता है जिस वजह से पीरियड्स के संबंध में लोगों का ज्ञान आधा-अधूरा है।

पीरियड्स पर बात करने से क्यों शरमाती हैं लड़कियां, जानिएइसी विषय पर ब्रिटेन की एक चैरिटी संस्था का कहना था कि लड़के और लड़कियों को स्कूल में एक साथ पीरियड्स के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए ताकि लड़कियों के मन से पीरियड्स को लेकर शर्म दूर हो जाए और लड़कों के अंदर लड़कियों के प्रति सम्मान और पीरियड्स को लेकर जागरूकता आए।

इस चैरिटी संस्था का कहना है कि पीरियड्स के बारे में स्कूल में चर्चा होनी चाहिए। इसका अधूरा ज्ञान आगे चलकर नुकसानदायक साबित होता है।

पीरियड्स पर बोलने पर शर्माती हैं लड़कियां

इस संस्था ने 14 से 21 साल तक की 1000 लड़कियों के बीच एक सर्वे करवाया, जिसमें निकलकर आया कि लगभग 50 प्रतिशत लड़कियां पीरियड्स के विषय में बात करने पर शर्म महसूस करती हैं।


Tags::