अब्दुल्लाह आज़म खान : चुनाव आयोग ने की है एकतरफा कार्रवाई

आज़म खान पर विवादित बयान के चलते चुनाव आयोग ने 72 घंटों का बैन लगाया है जिसके चलते उनके बेटे अब्दुल्लाह आज़म खान ने चुनाव आयोग पर एकतरफा कार्रवाई के आरोप लगाए हैं साथ ही उन्होंने बैन लगाने की वजह मुस्लिम होना भी बताया। उन्होंने यह भी कहा कि आज़म खान ने जया प्रदा पर बयान नहीं दिया था। अब्दुल्लाह रामपुर की स्वार सीट से एसपी के विधायक हैं।

आज़म खान के चुनाव प्रचार पर बैन लगने के बाद उनके बेटे अब्दुल्लाह ने मीडिया से कहा, ‘बैन लगाने से खामोश नहीं कर सकते हैं। चुनाव आयोग ने हम पर एकतरफा कार्रवाई की है, आज़म खान ने जया प्रदा पर बयान नहीं दिया था लेकिन चुनाव आयोग ने सफाई का मौका तक नहीं दिया।’ उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि मोदी को खुश करने के लिए आयोग ने बैन लगाया है।’

बता दें कि 18 अप्रैल को दूसरे चरण के चुनाव में रामपुर में भी मतदान होना है। आज दूसरे चरण के चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है। ऐसे में बैन के चलते आज़म न ही चुनाव प्रचार कर पाएंगे और न ही सोशल मीडिया पर कुछ लिख पाएंगे।

अब्दुल्लाह ने आरोप में ये भी कहा कि आज़म खान के चुनाव को प्रभावित करना ही मकसद था। आयोग ने तब कार्रवाई नहीं की जब बीजेपी की प्रत्याशी ने ये ट्विटर पर लिखा था कि मैं रामपुर एक दानव का अंत करने जा रही हूं। हम एक महीने से शिकायत कर रहे हैं कि जिला प्रशासन भेदभाव कर रहा है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ऐसा बयान जिसमें किसी का नाम नहीं है, इसके लिए आज़म खान को बैन कर दिया गया है, लेकिन हम दोगुनी हिम्मत से चुनाव लड़ेंगे।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |