Type to search

नयी खबर
मनोहर पर्रिकर की वो आखिरी इच्छा जो पूरी नहीं हो सकी…प्रियंका गांधी ने बताया- ‘इस वजह से उनको घर से निकलकर राजनीति में आना पड़ा’मायावती और अखिलेश के ‘वार’ के बाद प्रियंका गांधी की दो टूक…जब पर्रिकर के एक फैसले ने बचाए थे देश के 49,300 करोड़ रुपयेमायावती के बाद अब अखिलेश यादव का कांग्रेस पर ‘ट्वीट वार’प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तीखा हमला, चौकीदार तो अमीरों के होते हैंसपा-बसपा को कांग्रेस के ‘रिटर्न गिफ्ट’ पर मायावती की खरी-खरीकेंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने प्रियंका गांधी को लेकर दिया विवादित बयान,देखें वीडियोतो इस वजह से अखिलेश ने अपर्णा को नहीं उतारा चुनावी मैदान में…गांधी खानदान में इंदिरा गांधी के बाद प्रियंका गांधी पहुंची यहाँ, जानेजानें कांग्रेस के सपा-बसपा-RLD गठबंधन के लिए 7 सीट छोड़ने के क्या हैं मायने!मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए ठोका दावा
हेल्थ & फिटेनस

एड्स का वायरस समाप्त किया जा सकता है!

Share
एड्स का वायरस समाप्त किया जा सकता है!

HIV एक ऐसी बीमारी है जो किसी को हो जाये तो सबको यही लगता है कि न जानें कब वो इस दुनिया को अलविदा कह दें और सच भी तो है ये बीमारी है ही इतनी खतरनाक। कैंसर को भी बड़ी बीमारी के रूप मे देखा जाता रहा है लेकिन इसकी कुछ स्टेज होती है अगर शुरुआती स्टेज मे मरीज़ को इस बीमारी का पता चल जाये तो इसका इलाज संभव है वरना आख़री स्टेज तक तो डॉक्टर भी जवाब नहीं दें पाते कि आपके पास ज़िन्दगी के कितने दिन बाक़ी हैं।

कैंसर का इलाज तभी संभव है जब वक़्त रहते इसका पता चल जाये। HIV एक ऐसी बीमारी है जिसके बारें मे आप भी काफी वक़्त से सुनते आ रहें हैं लेकिन इसका इलाज अभी तक संभव नहीं हो पाया है। हाल ही मे कुछ ऐसी ख़बर सामने आयी जिससे ये अंदाज़ा लगाया जानें लगा कि शायद जल्द ही एड्स का वायरस भी समाप्त किया जा सकेगा।

एड्स को शुरू से ही जानलेवा बीमारी के तौर पर जाना जाता रहा है। एड्स से बचने के लिए इलाज खोज रहे अनुसंधानकर्ताओं के लिए अच्छी ख़बर ये है कि शायद अब एड्स के वायरस से छुटकारा पाने का तरीक़ा उन्हें मिल जाये।

एक पत्रिका ‘नेचर’ मे अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि HIV से पीड़ित एक व्यक्ति के इससे छुटकारा पाने का पहला मामला दस साल पहले सामने आया था। हाल ही में इसी तरह का एक मामला लंदन मे देखने को मिला जिसमे प्रत्यारोपण के लगभग 19 महीनें बाद उस मरीज़ मे विषाणु का कोई नामोनिशान नहीं पाया गया।

बता दें कि HIV से संक्रमित ये दोनों ही पेशेंट ब्लड कैंसर से पीड़ित थे और उनका अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण किया गया था। उन्हें एक ऐसे दुर्लभ अनुवांशिक उत्परिवर्तन वाले लोगों के स्टेम सेल प्रतिरोपित किये गए जो HIV के प्रतिरोध मे सक्षम हैं।

अस्थि मज्जा प्रतिरोपण एक ख़तरनाक एंव तकलीफदायक प्रक्रिया है। इसे HIV के इलाज का व्यावहारिक विकल्प नहीं माना जा सकता है, लेकिन स्टेम सेल प्रत्यारोपण से एड्स के वायरस से निजात पाने का ये दूसरा मामला सामने आने के बाद वैज्ञानिकों को इस बीमारी के इलाज को खोजने मे काफी मदद मिल सकती है।

Tags:

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

%d bloggers like this: