Type to search

नयी खबर
रिश्तेदार के कांग्रेस में शामिल होने पर महेंद्र नाथ पाण्डेय ने दिया बड़ा बयानबीजेपी के ‘शत्रु’ जाएंगे कांग्रेस के साथ, पटना साहिब से लड़ेंगे चुनाव !जानें हिंदुस्तान की राजनीति में किस नेता ने वंशवाद को दिया बढ़ावाVideo: सियासी फगवा गाने में माया,मुलायम,योगी,मोदी,अखिलेश,प्रियंका और राहुल पर ली चुटकीचुनाव लड़ने की खबरों के बीच माया का बयान- ‘जब चाहूं जीत सकती हूं चुनाव’बीजेपी नेता आईपी सिंह ने ‘चौकीदार’ को लेकर कह दी बड़ी बात,जानेंBJP सांसदों के टिकट कटने पर अखिलेश यादव का ‘कप्तान’ पर तंजयूपी बीजेपी के इस कद्दावर नेता की बहू हुई बागी, थामा कांग्रेस का हाथआज पीएम मोदी के गढ़ में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पीएम मोदी पर बोला हमलाExclusive: बीजेपी से यूपी के इन सांसदों का कटेगा टिकट? आज आएगी लिस्टHoli 2019 : होली पूजा के साथ भगवान विष्णु की भी पूजा करेंHoli 2019 : जानें,क्यों डालीं जाती हैं होलिका दहन मे गेहूं की बालियां
खबर देश

ये है Basant Panchmi 2019 का शुभ मुहर्त,ऐसे करें माँ सरस्वती को खुश

Share
ये है Basant Panchmi 2019 का शुभ मुहर्त ऐसे करें माँ सरस्वती को खुश

माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को सरस्वती की पूजा के दिन के रूप में भी मनाया जाता है। पुराणों में लिखा है सृष्टि को वाणी देने के लिए ब्रह्मा जी ने कमंडल से जल लेकर चारों दिशाओं में छिड़का था। इस जल से हाथ में वीणा धारण कर जो शक्ति प्रकट हुई वह सरस्वती देवी कहलाई। उनके वीणा का तार छेड़ते ही तीनों लोकों में ऊर्जा का संचार हुआ और सबको शब्दों में वाणी मिल गई। वह दिन बसंत पंचमी का दिन था इसलिए बसंत पंचमी को सरस्वती देवी का दिन भी माना जाता है।

शास्त्रों में बसंत पंचमी के दिन कई नियम बनाए गए हैं, जिसका पालन करने से मां सरस्वती प्रसन्न होती हैं। बसंत पंचमी के दिन पीले वस्त्र पहनने चाहिए और मां सरस्वती की पीले और सफेद रंग के फूलों से ही पूजा करनी चाहिए।

बसंत पंचमी पूजा मुहूर्त:

सुबह 7.15 बजे से दोपहर 12.52 बजे तक

पंचमी तिथि प्रारंभ:

मघ शुक्ल पंचमी शनिवार 9 फरवरी की दोपहर 12.25 बजे से शुरू,रविवार 10 फरवरी को दोपहर 2.08 बजे तक

मां सरस्वती की पूजा विधि:

सुबह स्नान करके पीले या सफेद वस्त्र धारण करें

मां सरस्वती की मूर्ति या चित्र उत्तर-पूर्व दिशा में स्थापित करें

मां सरस्वती को सफेद चंदन, पीले और सफेद फूल अर्पित करें

उनका ध्यान कर ऊं ऐं सरस्वत्यै नम: मंत्र का 108 बार जाप करें

मां सरस्वती की आरती करें और दूध, दही, तुलसी, शहद मिलाकर पंचामृत का प्रसाद बनाकर मां को भोग लगाएं

मां सरस्वती को कैसे करें प्रसन्न:

सरस्वती माता पीले फल, मालपुए और खीर का भोग लगाने शीघ्र प्रसन्न होती हैं।

बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती को बेसन के लड्डू अथवा बेसन की बर्फी, बूंदी के लड्डू अथवा बूंदी का प्रशाद चढ़ाएं।

श्रेष्ठ सफलता प्राप्ति के लिए देवी सरस्वती पर हल्दी चढ़ाकर उस हल्दी से अपनी पुस्तक पर “ऐं” लिखें।

बसंत पंचमी के दिन कटु वाणी से मुक्ति हेतु, वाणी में मधुरता लाने के लिए देवी सरस्वती पर चढ़ी शहद को नित्य प्रात: सबसे पहले थोड़ा से अवश्य चखें।

बसंत पंचमी के दिन गहनें, कपड़ें, वाहन आदि की खरीदारी आदि भी अति शुभ मानी जाती है।

क्या करें अगर एकाग्रता की समस्या है?

जिन लोगों को एकाग्रता की समस्या हो

आज से नित्य प्रातः सरस्वती वंदना का पाठ करें.

बुधवार को मां सरस्वती को सफ़ेद फूल अर्पित किया करें

अगर सुनने या बोलने की समस्या होती है?

सोने या पीतल के चौकोर टुकड़े पर मां सरस्वती के बीज मंत्र को लिखकर धारण कर सकते हैं.

बीज मंत्र है “ऐं”

इसको धारण करने पर मांस मदिरा का प्रयोग न करें

Tags:

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

%d bloggers like this: