अपमान किया CM ने और माफी शिक्षा मंत्री की

अपमान CM ने किया  तो CM को माफी मांगनी चाहिए, टीचर

नई दिल्ली: उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के जनता दरबार में एक महिला टीचर उत्तरा बहुगुणा की गिरफ्तारी फिर उसके निलंबन का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस पूरे घटनाक्रम पर राज्य के शिक्षा मंत्री ने पीड़ित टीचर से माफी मांगी है, इस टीचर ने कहा कि भरे दरबार में मुख्यमंत्री ने उनका अपमान किया है। इसलिए माफी शिक्षा मंत्री को नहीं बल्कि खुद मुख्यमंत्री को मांगनी चाहिए।

आपको बता दें कि 28 जुलाई को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जनता के दरबार में लोगों की समस्या सुने थे। इस दौरान एक स्कूल टीचर 57 वर्षीय उत्तरा बहुगुणा अपने तबादले की गुहार लगाने लगी, इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें इस तरह की दरखास्त नहीं लगाने के लिए मना किया। टीचर ने अपनी उम्र और पहाड़ी इलाके में काफी लंबे समय से तैनाती होने की बात कही। इस पर त्रिवेंद्र सिंह रावत भड़क गए और फौरान ही महिला टीचर की गिरफ्तारी और बर्खास्तगी के आदेश दे दिए।
मुख्यमंत्री के आदेश में वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने टीचर को गिरफ्तार कर लिया, कुछ समय ही उन्हें रिहा कर दिया गया साथ ही साथ विभाग ने टीचर को बर्खास्त कर दिया।

शिक्षा मंत्री ने मांगी टीचर से माफी

इस मुद्दे पर खूब राजनीति होने के बाद राज्य के शिक्षा मंत्री ने पीड़ित महिला टीचर से माफी मांगी है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शनिवार को उत्तरा बहुगुणा को फोन किया, अरविंद पांडे ने फोन पर आश्वासन दिया कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी और उनके साथ अन्याय नहीं होगा।
इस पर पीड़िता ने कहा, प्रदेश के शिक्षा मंत्री मुझसे क्यों माफी मांगे, जबकि मेरा अपमान मुख्यमंत्री ने किया है तो मुख्यमंत्री को खेद व्यक्त करना चाहिए। मेरे आत्मसम्मान को चोट पहुंची है किसी को भी मेरा अपमान करने का अधिकार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *