चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति से राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह की शिकायत की,जानें

लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान नेताओं की टिप्पणियों पर चुनाव आयोग लगातार नजर बनाए हुए है और उसकी कोशिश चुनाव के दौरान आचार संहिता बनाए रखी जा सके। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के एक बयान को लेकर चुनाव आयोग बेहद सख्त हो गया है और इसकी शिकायत राष्ट्रपति से भी कर दी गई है।

चुनाव आयोग ने राज्यपाल कल्याण सिंह के बयान पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सोमवार रात पत्र लिखा और पत्र में उनके बयान की शिकायत की गई। सोमवार देर शाम चुनाव आयोग की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की गई और बैठक के बाद राष्ट्रपति को इस संबंध में चिट्ठी भेजी गई।

राष्ट्रपति कोविंद को भेजे गए पत्र में राज्यपाल कल्याण सिंह के बयान और आचार संहिता के पालन पर उसके असर का विस्तार से ब्यौरा दिया गया है। राज्यपाल के पद की गरिमा के मुताबिक चुनाव आयोग ने इस मामले में राष्ट्रपति से ही समुचित संज्ञान लेने की अपील की गई है।

पिछले हफ्ते एक न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए अलीगढ़ में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा, ‘हम सभी भाजपा के कार्यकर्ता हैं, हम चाहते हैं कि भाजपा बड़ी जीत हासिल करे। देश के लिए जरूरी है कि नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनें।’ कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह उर्फ राजू भैया एटा से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

यूपी के दिग्गज नेताओं में शुमार किए जाने वाले कल्याण सिंह प्रदेश में सीएम रहे हैं। फिलहाल कल्याण सिंह बतौर राज्यपाल एक संवैधानिक पद पर तैनात हैं और भारतीय संविधान के तहत संवैधानिक पद पर बैठा कोई भी व्यक्ति किसी भी एक राजनीतिक दल का समर्थन नहीं कर सकता है, उसे हमेशा निष्पक्ष रहना होता है।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |