Type to search

नयी खबर
पुलवामा हमला: हरियाणा में कश्मीरी छात्रों को किया गया पीजी से बाहरभारतीय सेना के खिलाफ पोस्ट करना गुवाहाटी प्रोफेसर को पड़ा भारी, कॉलेज से निलंबितजापान ने भारत के लिए तोड़ी अपनी वर्षों पुरानी कसम, जानिएभारत का पाकिस्तान के साथ हुआ युद्द तो ये देश देंगे साथ?कश्मीर के वो 6 युवा जिनको देश करता है सलाम, पीएम मोदी भी कर चुके हैं तारीफSBI ने एक बार फिर अपने ग्राहकों के लिए जारी की ये चेतावनी,कहा-इन नंबरों…पुलवामा आंतकी हमले के बाद यूएस ने भारत को दि जवाबी कार्रवाई की सहमति, कही बड़ी बातभारत ने पाकिस्तान पर इस तरह की सर्जिकल स्ट्राइक! जानेंअब ये उद्योगपति आगे आया पुलवामा शहीद जवानों के परिवार की मदद के लिए,जानेंपुलवामा हमला: T-Series ने पाकिस्तानी सिंगर को दिया बड़ा झटका, कर दिया ‘Unlist’Best Toilet Paper In The World में पाकिस्तान का झंड़ाजवान के अंतिम संस्कार के दौरान हंसते दिखे साक्षी महाराज, लोगों ने लगाई लताड़
खबर देश

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का आज सुबह हुआ निधन

Share
पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का आज सुबह हुआ निधन

समता पार्टी के संस्थापक और देश के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का आज सुबह 7 बजे 88 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। जॉर्ज फर्नांडिस पिछले कुछ दिनों से स्वाइन फ्लू से पीड़ित थे और दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती थे। लंबे वक्त से बीमार होने की वजह से ही वह सार्वजनिक जीवन से दूर थे। अपने लंबे राजनीतिक करियर में उन्होंने रक्षा, उद्योग मंत्रालय का जिम्मा संभाला था। पीएम मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद समेत कई बड़ी हस्तियों ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया।

पीएम मोदी ने भी जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि जॉर्ज साहब ने भारत के बेस्ट राजनीतिक लीडरशिप की अगुवाई की, उनका योगदान काफी अहम रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी जॉर्ज फर्नांडिस के निधन पर शोक व्यक्त किया।

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का भारतीय राजनीति में ऐतिहासिक योगदान रहा है, फिर चाहे वह रक्षा क्षेत्र में उठाए गए बड़े फैसले हो या फिर इमरजेंसी के दौरान अपनी आवाज उठाने का मुद्दा रहा हो, जॉर्ज फर्नांडिस ने हमेशा ही आगे बढ़कर नेतृत्व किया। पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस की अगुवाई में 1974 में हुई रेलवे हड़ताल को सबसे बड़ी हड़ताल के रूप में देखा जाता है। उस दौरान वह ऑल इंडिया रेलवेमैन फेडरेशन के प्रमुख थे, जॉर्ज की अगुवाई में हुई उस हड़ताल ने केंद्र सरकार की नींद उड़ा दी थी।

इमरजेंसी के दौरान जॉर्ज फर्नांडिस काफी एक्टिव रहे थे, आपातकाल हटने के बाद वह राजनीति में कूदे और पहली बार चुनाव लड़ा। उन्होंने जेल में रहते हुए ही बिहार के मुजफ्फरपुर से चुनाव लड़ा और जीते भी। केंद्र में जब मोरारजी देसाई की अगुवाई में सरकार बनी तो उन्हें मंत्री पद भी दिया गया। इसके बाद वीपी सिंह की सरकार में वह रेल मंत्री भी रहे।

अटल बिहारी वाजपेयी की अगुवाई में जब NDA की सरकार बनी तो जॉर्ज फर्नांडिस को रक्षा मंत्री का पद दिया गया। उन्होंने NDA के संयोजक के रूप में भी मुख्य भूमिका निभाई, बताया जाता है कि उस दौरान अगर NDA में कोई रुठता तो उन्हें मनाने का काम जॉर्ज फर्नांडिस के जिम्मे ही रहता था।

Tags:
%d bloggers like this: