भारी बारिश से बढ़ा ‘गंगा-रामगंगा’ का जलस्तर, करीब 40 गांवों पर छाया संकट

उत्तर प्रदेश

फर्रुखाबाद- बारिश ने जगह-जगह आफत मचा दी है। भारी बारिश और बाढ़ की वजह से मृतकों का आकड़ा पहले ही 700 के पार पहुंच चुका था और अब केरल में आए भूस्खलन से 26 लोगों के नाम और बारिश से हुई मौतों की लिस्ट में जुड़ गए हैं। वहीं दूसरी और उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में बाढ़ ने लोगों की समस्याओं को सांतवे आसमान पर पहुंचा दिया है। प्रशासन इस आफत भरी बारिश से कितने भी लोगों को राहत दिलाने की कोशिश करें, पर इतने वापस कहीं न कहीं यह बारिश प्रशासन की मुसीबतों को दुगना कर देती है।

फर्रुखाबाद में लोगों के बीच फैली दहशत

 

यूपी के फर्रुखाबाद इलाके में हुई तेज भारिश ने लोगों को उन्हीं के घर में बंधक बनने को मजबूर कर दिया। दरअसल इलाके में कई दिनों से हो रही भारी बारिश ने गंगा का जलस्तर बढ़ा दिया जिससे आस-पास के गांवों में पानी भर गया। वहीं गंगा के साथ-साथ रामगंगा नदी पर भी इस बारिश का संकट मंडरा रहा है। इस बारिश की वजह से दोनों नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहंच गया।

गंगा-रामगंगा का जलस्तर बढ़ने से डूबे 40 गांव

इस बारिश की वजह से करीब यूपी के 40 गांव बाढ़ का सामना करने को मजबूर हैं। जी हां, इस बारिश की वजह से गंगा और रामगंगा का जलस्तर बढ़ गया जिसकी वजह से पानी नदी से बाहर निकलकर पास के गांवों में चला गया जिससे वहां के लोग बाढ़ का सामना करने को मजबूर हो रहे हैं। लोगों को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

इन गांवों के लोगों को अपना घर छोड़कर अपनी जान बचाने के लिए वहां से भागना पड़ा। वहीं कुछ इलाकों में सड़कों पर कमर तक पानी भर गया है जिसकी वजह से लोग अपने घरों में ही रहने को मजबूर हैं। वहीं इन गांवों में अब तक प्रशासन की तरफ से कोई खास मदद मौहिया नहीं कराई गई है। वहीं किसानों की फसलें खराब हो गई हैं। इन गावों के लोगों की रोजी-रोटी पर बारिश की वजह से संकट खड़ा हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.