पत्रकार गौरी लंकेश मर्डर केस में ATS के हाथ लगे बड़े सुराग

जुर्म

मुम्बई :  पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या मामले में गिरफ्तार आमोल काले से पूछताछ के बाद उसके साथियो को धर पकड़ करना शुरु कर। महाराष्ट्र एटीएस ने शुक्रवार की सुबह जब नालसोपारा से वैभव राउत को गिरफ्तार किया  तो उन्होने ने एक सनसनी खबर का खुलासा किया ।

बता दे कि गौरी लंकेश की हत्या के मामले में गठित एसआईटी ने कुछ दिन पहले ही आमोल काले को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरु किया है। आमोल काले पेशे से एक इंजीनियर है,और गौरी लंकेश हत्याकांड का मास्टरमाइंड भी था। जब एसआईटी ने इस पूछताछ किया तो उसने अपने संगठन के नाम पते बता दिए । उसने 10 लोगो का नाम लिया था।

जिसमे एक वैभव ऱाउत का नाम सामने आया था. जो सनातन संस्था से जुड़ा हुआ है। जो शातिर किस्म का व्यक्ति है। महाराष्ट्र एटीएस ने इस पर पिछले कुछ दिनो से नजर रखी हुई थी. जब उसे एटीएस की टीम ने गिरफ्तार किया तो उसके पास से कई देसी बम और विस्फोटक बरामद किए गए है। एटीएस ने बताया कि वैभव ऱाउत कई हिंन्दुवादी संगठनों और गौंरक्षा समूहों के सक्रिय सदस्य होने की बात सामने आई है,वह हिंदू समाज के विषय में जागरूकता फैलाने के काम में बहुत सक्रिय था।

रिपोर्टस के मुताबिक 2015 में उसके खिलाफ दो मामले दर्ज हुए थे. वह कुछ दिन पहले ही जेल से बाहर आया था। बता दे कि वह बाहर जो भी कर रहा हो, लेकिन अपने इलाके के लोगो के बीच उसे बहुत अच्छा समझा जाता है। लोगो को उसकी हरकतो को लेकर थोड़ी सी भी भनक नही थी।

by

pramod yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published.