बढ़ती जनसंख्या एक गंभीर मुद्दा: योगी आदित्यनाथ

देश में खुशहाली के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण होना जरूरी: योगी आदित्यनाथ

जनसंख्या हमारे देश का एक बड़ा मुद्दा है जिसके बारे में कोई भी ज्यादा बात नही करना चाहता, लेकिन वही देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ के मौके पर अपने सरकारी आवास से ‘जागरूकता रैली’ को हरी झंडी दिखाई और इस अवसर पर योगी ने कहा देश को जागरूक होने की आवश्यकता, बढ़ती जनसंख्या जैसे गंभीर मुद्दों पर देश की जनता को जागरूक करना आवश्यक है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जनसंख्या की स्थिति को स्थिर करना होगा जभी देश की आवश्यकताओं को पूरा किया जा सकता है। योगी ने कहा आज वर्तमान में मूल रूप से जनसंख्या का इतनी तेजी से बढ़ना एक गंभीर मुद्दा है।

योगी ने ‘विश्व जनसंख्या दिवस’के अवसर पर जनसंख्या स्थिरता अभियान का भी शुभारंभ किया

मुख्यमंत्री योगी ने कहा बढ़ती जनसंख्या हमारा देश में असंतुलन की स्थिति पैदा करती है। इस स्थिती को कंट्रोल करने के लिए सभी समाज को आपस में एक साथ विचार करना जरुरी है । जनसंख्या नियंत्रण से आम लोगो को फायदा मिंलेगा जिसमें उन्हें बेहतर शिक्षा, चिकित्सा, साफ पानी, स्वच्छ वातावरण, अच्छी सड़के जैसी जो उनकी जरूरत है उसमें इजाफा होगा ।

उन्होंने कहा कि देश में भुखमरी खत्म करनी होगी इसके लिए एक समाज, स्थान की स्थापना करनी होगी और इसकी जागरूकता हर एक नागरिक तक पहुंचआना जरूरी।

आंकड़े व जानकारी

जनसंख्या की वृद्धि दर क्या आपको चिंतित कर सकती है ।

1951 – 361,088,090 – 13.32%
1961 – 438,936,918 – 21.62%
1971 – 548,160,050 – 24.8%
1981 – 683,329,900 – 25%
1991 – 838,583,988 – 26.9%
2001 – 1,028,737,436 – 21.5%
2011 – 1,210,193,422 – 17.70%
2021 – 1,387, 583, 421(अपेक्षित)

जनसंख्या वृद्धि दर के अनुसार अनुमानित भारत की जनसंख्या वर्ष 2018 में 1,352,551,891 (अपेक्षित) हो सकती है ।

भारत सरकार द्वारा हर 10 वर्षों के अंतराल में जनगणना कराया जाता है। 1951 से लेकर 2011 तक भारत में 7 बार जनगणना कराया गया है। भारत का अगला जनगणना वर्ष 2021 होगा ।

 

रिपोर्ट : नितिन अरोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *