जम्मू कश्मीर : रमजान के महीने में सेना नहीं करेगी आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन

राष्ट्रीय

सीएम महबूबा मुफ्ती की मांग को पीएम ने माना

नई दिल्ली : रमजान के दौरान जम्मू-कश्मीर में सेना का कोई भी ऑपरेशन नहीं होगा । इसके लिए जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने पीएम नरेंद्र मोदी से मांग की थी । सीएम महबूबा मुफ्ती की मांग को मान लिया गया है । केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुरक्षाबलों से जम्मू-कश्मीर में रमजान के महीने में कोई ऑपरेशन लॉन्च ना करने के लिए कहा है । हालांकि स्थिती के आधार पर सेना को जवाबी कार्रवाई कर सकती है । सुरक्षाबलों के पास हमला होने और निर्दोष लोगों की जान बचाने की स्थिति में ऑपरेशन करने का अधिकार होगा ।

रमजान और अमरनाथ यात्रा के चलते लिया गया फैसला

आपको बता दें की रमजान का महीना शुरू होने वाला है । इस महीने मुस्लिम समुदाय के लोग पूरे महीने रोजा रखते है और दूसरी तरफ अमरनाथ की पवित्र यात्रा भी जारी है । हिंदू समुदाय में इस यात्रा का अपना महत्व है । इस स्थिती को देखते हुए मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर के सभी दलों ने सर्वदलीय बैठक में केन्द्र सरकार से आतंकियों के साथ संघर्ष विराम की अपील की थी । सीएम इस मामले में कहा कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने का प्रयास किया जाना चाहिए ताकि ईद और अमरनाथ यात्रा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो सके ।

BJP प्रभारी राम माधव ने दिया बड़ा बयान

इस मामले में जम्मू कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी के प्रभारी राम माधव ने रमजान के महीने में युद्धविराम के मुद्दे पर अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि रमजान के महीने में आतंकवादी खुद ही आतंक क्यों नहीं बंद कर देते । आतंकवाद पर सीधी शब्दों में बोलते हुए कहा कि आतंकवादियों पर कोई रहम नहीं किया जाना चाहिए । जब तक आतंकवादी आतंक फैलाएंगे. सुरक्षा बल अपना कर्तव्य निभाते रहेंगे ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.