Type to search

लाइफस्टाइल हेल्थ & फिटेनस

अगर आप भी करना चाहती हैं फिमेल कंडोम इस्तेमाल तो जानें उसके फायदे और नुकसान

ज्यादातर महिलाएं आज भी कॉन्ट्रसेप्टिव इस्तेमाल के समय गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि सिर्फ पुरुषों के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं के लिए भी फीमेल कॉन्डम बाजार में उपलब्ध है। अगर आपका साथी कॉन्डम इस्तेमाल करने से माना करता है और आप गर्भनिरोधक गोलियां नहीं खाना चाहतीं तो फीमेल कॉन्डम इस्तेमाल कर सकती हैं। लेकिन इससे पहले कि आप इसे इस्तेमाल करने के बारे में सोचना शुरू कर दें हम आपको बता रहे हैं फीमेल कॉन्डम इस्तेमाल करने के फायदे और नुकसान



फीमेल कॉन्डम पूरी सुरक्षा प्रदान करता है और महिलाओं को सुरक्षित यौन संबंध बनाने में मदद करता है। यह महिला की पहल वाली एकमात्र गर्भनिरोधक विधि है जो गर्भधारण से रोकथाम करने के साथ ही HIV/एड्स से भी दोहरी सुरक्षा प्रदान करता है।

फीमेल कॉन्डम सॉफ्ट और बारीक प्लास्टिक से बना होता है जिसे पॉलियूरेथेन कहते हैं। इंटरकोर्स के दौरान सीमन को गर्भाशय तक पहुंचने से रोकने के लिए इसे वजाइना में लगाया जाता है। अगर इस कॉन्डम का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो यह अनचाहे गर्भ के साथ ही सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज यानी STD से भी 95 फिसदी तक सुरक्षा प्रदान करता है।




जिस तरह से टैम्पून को वजाइना के अंदर इंसर्ट किया जाता है, ठीक उसकी तरह से फीमेल कॉन्डम को भी प्राइवेट पार्ट के अंदर इंसर्ट किया जाता है। इसमें कॉन्डम के इनर रिंग को अंदर की ओर जबकि आउटर रिंग को बाहर की ओर रखा जाता है।

फायदे:

– सही तरीके से इस्तेमाल करने पर यह दोनों पार्टनर को STD,STI और HIV जैसे संक्रमण से बचाता है।

– अनचाहे गर्भ से बचने का कारगर तरीका है।

– इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

– मेल कॉन्डम की ही तरह इसे भी सेक्स से पहले कभी भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

नुकसान:

– कुछ कपल्स का मानना है कि सेक्स के बीच में कॉन्डम लगाने से उनका पूरा एक्सपीरियंस खराब हो जाता है।

– फीमेल कॉन्डम्स वैसे तो मजबूत होता है लेकिन अगर सही तरीके से इस्तेमाल न किया जाए तो यह फट भी सकता है।

– साथ ही फीमेल कॉन्डम्स बाजार में बहुत कम मिलते हैं लिहाजा बहुत महंगे आते हैं।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *