यहाँ सर्च करे

Diwali: आज के दिन इन जगह ‘दीये’ जलाने से माँ लक्ष्मी की बरसेगी कृपा


पूरे देश में दीपावली का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। धनतेरस से लेकर भैया दूज तक हर रोज घर आंगन में दीपक जलाने की परंपरा रही है। दीपावली के दिन ढेर सारे दीपक जलाकर चारों ओर का अँधेरा दूर करते हैं लेकिन इस मौके पर आपको कुछ खास जगहों पर दीपक जलाने चाहिए ताकि पंचमहोत्सव का पुण्य फल आपको मिले और पूरे साल लक्ष्मी और गणेश की जी की कृपा आप पर बनी रहे।

-दीपावली की शाम लक्ष्मी पूजन से पहले मुख्य द्वार पर सरसों के तेल के दीपक जलाएं। अगर घर में आंगन है तो घी का एक दीपक आंगन में जलाएं और अगर आंगन नहीं तो है ड्राइंगरूम या घर के बीचों बीच घी का दीपक जलाएं।

-नजदीक के मंदिर में जाकर दीपदान करें। आप 5  या 7 घी के दीपक ले जाएं और अपने ईष्टदेव के अलावा शिव मंदिर व अन्य मूर्तियों के सामने भी दीपक जलाएं और समृद्धि की कामना करें।

-घर के नजदीक मुख्य चौराहे पर दीपक जलाकर आएं।

-लक्ष्मी पूजन के बाद पीपल के पेड़ के नीचे भी दीपक जलाकर आएं। अपने घर और घर के आस पास कहीं भी अंधेरा दिखे तो संकोच न करें और वहां दीपक जलाकर आएं।




-रात को शयनकक्ष में घी का दीपक जलाएं लेकिन साथ ही उसमें कपूर भी रख दें। कहते हैं कि इससे दांपत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है।

-गृहस्वामिनी दीपावली की रात खाना बनाने से पहले दो दीपक रसोईघर में जरूर जलाएं। इससे मां अन्मपूर्णा प्रसन्न होती है और घर भंडार में वृद्धि होती है।

-अगर आपके पास वाहन है तो वाहन के समीप एक दीपक जरूर जलाएं।

-तिजोरी में न सही लेकिन तिजोरी के नजदीक भगवान कुबेर की प्रार्थना करते हुए तिल के तेल का दीपक जलाएं। इससे साल भर तिजोरी भरी रहने के योग बनते हैं।

-घर के पास नदी या नहर बहती हो तो किनारे पर दीपक जलाएं। अगर ऐसा संभव न हो तो घर में नल जल के किसी भी स्त्रोत के नजदीक एक दीपक जरूर जलाएं। कहा जाता है कि मां लक्ष्मी जल के रूप में भी घर-घर में मौजूद रहती हैं।

-दीपावली की रात घर के चारों कौनों में चौमुखी दीपक जरूर जलाएं और भगवान गणेश से अपने चारों तरफ सुख समृद्धि की कामना जरूर करें।

-दीपावली की रात पूजन के पश्चात तुलसी के पौधे के नीचे भी एक दीपक जलाएं।


न्यूज़१ इंडिया की खबरों को पाने के लिए ALLOW बटन पर क्लिक करे|