IPL 2019 : सट्टा मामले में एसटीएफ द्वारा की गयी बड़ी कार्यवाही

कई जगह की गयी छापेमारी में कानपुर से आईपीएल सट्टा सरगना जितेन्द्र उर्फ जीतू सहित आशीष, सुमित, मोहित और हिमांशु को गिरफ्तार किया गया है।

आईपीएल मैच में सटटा लगाना आम बात है। हर साल काफी तादात में लोग पकड़े भी जाते हैं लेकिन फिर भी ये सब थमने का नाम नहीं लेता। वाराणसी से अशोक सिंह, सुनील पाल और विक्की खान को गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि वाराणसी से 27.75 लाख रुपए नगद व मोबाइल फ़ोन बरामद किये गये हैं। वहीं कानपुर से 2.75 लाख रुपए नगद बरामद हुए साथ ही 5 लैपटॉप, 3 स्मार्ट टीवी,राऊटर, वाईफाई, अडैप्टर, कनेक्टर, 30 मोबाइल फ़ोन, 375 विदेशी मुद्रा दिरहम आदि समान भी बरामद किया गया है।

कानपुर से ही दो ऑनलाइन बेटिंग बॉक्स भी बरामद किये गए हैं। बता दें कि प्रत्येक बेटिंग बॉक्स से 10-10 बुकी एक साथ ऑनलाइन बेटिंग करते थे। इन बेटिंग बॉक्स में माइक और स्पीकर की भी व्यवस्था है साथ ही इसमें बातचीत (conversation) को रिकॉर्ड भी किया जा सकता है। बेटिंग विवाद की दशा में रिकॉर्डिंग सुनाकर मामला सुलझाया जाता है। ऑनलाइन एप्प ऑरेंज को लैपटॉप पर डाउनलोड किया गया जिससे मुख्य बुक्की जीतू को भाव पता चलता है। बेटिंग बॉक्स से लगे माइक से announcement कर ऑनलाइन फोन के मध्यम से छोटे बुकी को सूचना दी जाती है।

मौके से फरार अजय सिंह की फॉर्च्यूनर गाड़ी और जीतू की मर्सिडीज कार भी बरामद कर ली गयी है। जीतू के मध्यम से बीस की संख्या मे बुक्की ऑनलाइन बेटिंग का काम करते हैं। बताया जा रहा है कि रायपुर, अजमेर, जयपुर, मुंबई, दिल्ली और दुबई के बुक्की से जीतू के तार जुड़े हुए हैं। ये लोग कानपुर, लखनऊ, फतेहपुर, वाराणसी, प्रयागराज, आदि स्थानो पर जगह बदल बदल कर कारोबार करते हैं। पकड़े गये किसी भी अभियुक्त के आय का कोई स्थायी पता नही है।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |