पाकिस्तान पर किसी भी समय हो सकता है हमला, तोप, मिसाईलें तैनात!

ईरान ने पाकिस्तान को आखिरी अल्टीमेटम दिया है कि 13 फरवरी को रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स पर हमला करने वाले आतंकियों को अब तक सजा नहीं दी गयी है, अब इस्लामाबाद को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगा। ईरान अब बिना किसी चेतावनी के पाकिस्तान के भीतर छुपे आतंकियों के ठिकानों पर हमला कर सकता है। ईरान ने पाकिस्तान से लगे बॉर्डर की फ्रंट लाइन पर टैंक और तोपखाने की तैनाती कर दी है।

बता दें ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स पर पाक पोषित आतंकियों ने 13 फरवरी को हमला किया था। इस हमले में 27 रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की जान चली गयी थी। इसके ठीक एक दिन बाद भारत के पुलवामा में भी पाक पोषित आतंकियों ने हमला किया था जिसमें 40 जवान शहीद हुए थे। भारत ने बालकोट में एयरस्ट्राइक करके पुलवामा का बदला ले लिया। जिसके बाद ईरान की सरकार और सेना के ऊपर और दबाव आया गया है। इसलिए रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमाण्डर ने पाकिस्तान को नतीजा झेलने की चेतावनी दे दी है।



ईरान ने कहा है कि हमले के 20 दिन बीत जाने के बाद भी पाकिस्तान न तो जैश-अल-आदिल के खिलाफ कोई कार्रवाई की है और न ही पाकिस्तान के हुक्मरानों की ओर से कोई प्रतिक्रिया आयी है। रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के कमाण्डर मेजर जर्नल मोहम्मद अली जाफरी ने बड़े ही तल्ख शब्दों में कहा है कि 13 फरवरी के हमलावरों को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का संरक्षण है।

जाफरी ने कहा कि पाकिस्तान को समझ जाना चाहिए कि उसे इस हमले की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। जर्नल जाफरी ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को अपने पहलू में ज्यादा दिन छुपा कर नहीं रख सकता। जनरल जाफरी ने कहा कि हम अपने शहीदों के खून का बदला लेकर रहेंगे। पाकिस्तान के चुप्पी साध लेने को ईरान ने काफी गंभीरता से लिया है। ईरानी आर्मी अफसरों ने साफ-साफ कहा है कि आतंकियों ने बलूचिस्तान में अपने अड्डे बना रखे हैं। उनपर ISI का पहरा रहता है। ISI की निगहबानी में आतंकी फल-फूल रहे हैं।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |