यहाँ सर्च करे

दिल पर तमंचा रख चलाई गोली फिर भी दिल पर ना लगी,जानें ये अनोखा मामला


उत्तरप्रदेश के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है।

उत्तरप्रदेश के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। एक युवक ने प्रेम में नाकाम रहने पर अपने दिल पर बंदूक रख गोली चला ली। लेकिन जब उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल ले जाया गया तो पता चला कि उसका दिल बाईं नहीं बल्कि दाईं ओर है. युवक की जान बच गई है लेकिन उसकी हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।

मूल रूप से जिला हमीरपुर के रहने वाले सतीश का एक लड़की के साथ प्यार का चक्कर चल रहा था। 18 सितंबर की सुबह उसका अपनी प्रेमिका के साथ विवाद हो गया तो उसने अपनी जान देने का प्रयास किया। उसने तमंचे की नली अपने दिल से सटाई और गोली चला दी।




घरवालों ने बेहद गंभीर हालत में उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया। चिकित्सकों ने इलाज शुरू किया और जांचें की तो वो लोग हैरान रह गए। दरअसल सतीश का दिल बाईं ओर था ही नहीं। गौरतलब है कि इंसानों का दिल बाईं ओर होता है लेकिन हजारों में से किसी एक का दिल दाईं ओर होता है।

डॉक्टरों की भाषा में इसे डोस्कट्रोकार्डिया कहते हैं। गोली अगर दिल में लग जाती तो जान बचना लगभग नामुमकिन होता लेकिन अब सतीश की जान बचने की उम्मीदें हैं। हालांकि उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. डॉक्टरों ने बताया कि उसके ऑपरेशन किए गए हैं और उसकी हालत अब काफी बेहतर है।

शायद इसीलिए कहते हैं- जाको राखे साइयां मार सके ना कोय । सतीश ने तो खुद अपनी जान लेनी चाही लेकिन उसके नसीब में शायद मौत नहीं लिखी थी।


न्यूज़१ इंडिया की खबरों को पाने के लिए ALLOW बटन पर क्लिक करे|