कांवरिया हिंसा: सुप्रीम कोर्ट का आदेश दोषी के खिलाफ हो कार्रवाई

उत्तर प्रदेश दिल्ली/NCR राजनीति

 नई दिल्ली: उत्तरी राज्यो के कांवरियो द्वारा कार में तोड़-फोड़ करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पुलिस को निर्देश दिया कि जो भी कानूनों उल्लंघन और हिंसा को फैलाने का जिम्मेदार है उसके खिलाफ पुलिस सख्त से सख्त कार्यवाही करे।

तीन जजो की बेंच जिसमें चीफ जस्टीस आफ इंडिया (CJI) दिपक मिश्रा के अध्यक्षता में जस्टिस ए एम खानविलकर और डीवाई चंद्रचुद, ने 2009 के फैसले का हवाला देते हुए शीर्ष अदालत ने यह भी कहा कि आयोजक जुलूस के दौरान रिपोर्ट की गई हिंसा के लिए ज़िम्मेदार थे।

बता दे कि इस फैसले में कहा गया था कि प्रत्येक जूलूस का वीडियोग्राफी करायी जाए।

&nbsp


;

 

दरअसल बुधवार को एक कांवरिया ग्रूप के बीच से कार निकालने की कोशिश करने को लेकर गुस्साए कांवरियो ने रॉड से कार पर हमला कर उसे पूरी तरह तोड़ दिया, जिसका विरोध करने पर ड्राईवर को भी पीटा और जमकर तोड़ फोड़ किया।

ऐसी ही एक घटना यूपी के बुलन्दशहर में 7 अगस्त को हुआ। जहॉ कांवरियो ने एक व्यस्त सड़क पर पुलिस के एसयूवी पर हमला किया और साथ ही आस-पास के लोगो के साथ भी मारपीट की थी। जिस पर यूपी के डिप्टी चीफ मिनीस्टर दिनेश शर्मा ने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

by

pramod yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published.