Madras High Court से छात्रों को बड़ी राहत, NEET का रिजल्ट दोबारा जारी होगा !

NEET के तमिल भाषी छात्रों को मिलेंगे ग्रेस मार्कस, नीट रिजल्ट होगा रिपीट !

नई दिल्ली: तमील भाषा में नीट एग्जाम देने वालों के लिए राहत की ख़बर है। मद्रास हाई कोर्ट ने अपना फरमान जारी कर दिया है। तमील भाषा में सवालों का जवाब देने वाले अभ्यर्थियों को 196 अनुग्रह अंक मसलन ग्रेस मार्क्स मिलेंगे। दसअसल सीबीएससी द्वारा आयोजित नीट परीक्षा में इस बार अनुवाद की गड़बडी हो गई थी। 49 सवालों का इंग्लिश से तमील अनुवाद ही गलत हो गया था। जिसके चलते मद्रास हाई कोर्ट ने सीबीएससी को यह फरमान जारी किया है।

यह भी पढ़ें: CBSE ने जारी किए NEET के नतीजे, कल्पना ने किया टॉप 

कितने छात्रों को मिलेंगे ग्रेस मार्क्स ?

मेडिकल व डेंटल कॉलेजों में प्रवेश परिक्षा के लिए हर साल नीट का एग्जाम होता है। इस साल कुछ सवालों का अनुवाद गलत हो गया था जिसके चलते सीबीएसई द्वारा छात्रों को ग्रेस मार्क्स देना पडा। आपको बता दें तमील में इस साल 24720 छात्रों ने पेपर लिखा था। इसलिए इन सभी 25 हजार छात्रों को 196 अंको का ग्रेस मार्क्स दिया जाएगा।

इस फैसला का असर क्या होगा ?

कोर्ट के इस फैसले का बड़ा असर हो सकता है। दरअसल 4 जून को जारी हुए रिजल्ट का समीकरण गड़बड़ा जाएगा। मसलन पिछले रिजल्ट में जारी की मैरिट लिस्ट पर भी असर पडेगा। आपको बता दे रिजल्ट के आधार पर देश में इस समय एमबीबीएस व बीडीएस के लिए कांउसिलिंग चल रही है। नए रिजल्ट से पूराने छात्रों के सलेक्शन पर भी असर पड सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *