Type to search

नयी खबर
Lok Sabha Election 2019 : जाने, बीजेपी की 4 और 5 लिस्ट में कौन से नाम शामिललम्बे इंतज़ार के बाद सपना चौधरी हुई कांग्रेस में शामिलLok Sabha Election 2019 : कांग्रेस की 8वीं लिस्ट में दिग्विजय सिंह का नाम भी शामिलजानें, किस राशि वालों का आज व्‍यापार में उतार चढ़ाव बना रहेेगाहर वोट है कीमती, इतिहास के पन्नों से जानिए एक-एक वोट की कीमत…परेश रावल ने चुनाव ना लड़ने का किया ऐलान, मीडिया से किया ये अनुरोधबीजेपी के सभी चौकीदार चोर हैं : राहुल गांधीशहीदी दिवस पर याद आये भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरुअमेठी के साथ-साथ इस सीट से भी चुनाव लड़ेंगे राहुल गांधी ?अखिलेश यादव ने ‘बीजेपी IT सेल’ को दिया नया नाम, जुबानी जंग तेजकल्याण सिंह ने दबे स्वर में अलीगढ़ प्रत्याशी सतीश गौतम का किया विरोध!IPL 2019: धोनी बनाम विराट, आंकड़ों से जानिए कौनसी टीम है किसपर भारी…
खबर देश

गृह मंत्रालय की बड़ी कारवाई,ममता के धरने में शामिल इन 5 IPS अफसरों…

Share
गृह मंत्रालय की बड़ी कारवाई,ममता के धरने में शामिल इन 5 IPS अफसरों...

कोलकाता में CBI और केंद्र सरकार के विरोध में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ धरने पर बैठे 5 पुलिस अधिकारियों के खिलाफ गृह मंत्रालय ने कड़ा कदम उठाने का फैसला किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, 5 में से कोई भी पुलिस अधिकारी डेप टेंशन पर नहीं जा सकता है, इसी के साथ सभी को अपना मेडल वापस करना होगा जो केंद्र सरकार ने उन्हें अच्छे काम के लिए दिया था।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, ममता बनर्जी के साथ बैठने वाले 5 पुलिस अधिकारियों में DGP और कमिश्नर राजीव कुमार भी शामिल थे। अब इन सभी पर गृह मंत्रालय ने कार्रवाई का मन बना लिया है। इसके साथ ही जिन अधिकारियों ने कोलकता धरने में हिस्सा लिया था, 4 फरवरी को उनसे गृह मंत्रालय ने जानकारी भी मांगी है। ये पांच अधिकारी है- वीरेन्द्र (IPS), विनीत कुमार गोयल (IPS), अनुज शर्मा (IPS), ज्ञानवंत सिंह (IPS) और सुप्रतिम सरकार (IPS)। इन अधिकारियों का नाम इंपैनल्ड लिस्ट से भी हटाने की तैयारी चल रही है।

5 फरवरी को गृह मंत्रालय ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए थे। गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को इसको लेकर एक पत्र लिखा था, जिसमें गृह मंत्रालय ने राजीव कुमार पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने को कहा था। पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रेटरी को लिखे अपने पत्र में गृह मंत्रालय ने अधिकारी द्वारा अखिल भारतीय सेवाओं (आचरण) नियमों, 1968 / AIS (D&A) नियम, 1969 के अनुशासनहीन व्यवहार और उल्लंघन करने का का हवाला दिया।

बता दें कि पिछले रविवार को CBI की टीम चिट फंड मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची थी। इस दौरान CBI की टीम को कोलकाता पुलिस हिरासत में लेकर जबरन थाने में ले गई। इस पूरे हाई वोल्टेज ड्रामे के बीच पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के बचाव में उतरीं और धरने पर बैठने का ऐलान किया। ममता ने पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पोंजी योजना घोटाले की जांच के सिलसिले में पूछताछ की CBI की कोशिश के खिलाफ धरना शुरू किया था। उन्होंने पुलिस आयुक्त के कार्यालय में CBI अधिकारियों के जबरन घुसने के प्रयास की घटना को संघीय ढांचे पर केंद्र सरकार का प्रहार करार दिया।

Tags:

You Might also Like

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

%d bloggers like this: