मायावती ने पुल दुर्घटना पर जताई संवेदना, उच्चस्तरीय जांच बैठाने की भी की मांग

मायावती का सरकार पर हमला, ‘बीजेपी के नेता मामले से पाने चाहते है छुटकारा’

वाराणसी- 15 मई को हुए वाराणसी फ्लाई ओवर दुर्घटना में बसपा सुप्रीमो मायावती ने वाराणसी हादसे पर दुख प्रकट करते हुए कहा है कि उन्हें इस हादसे से बेहद खेद है। प्रदेश सरकार को इस पर शख्त कार्रवाई करनी चाहिए। घटना में पीड़ित लोगों को मुआवजा देकर सरकार की जिम्मेदारी खत्म नहीं हो जाती। सरकार की जिम्मेदारी पीड़ितों की मदद़ से लेकर उनके दोषियों को सजा दिलाने तक होती है। मायावती ने सरकार से मामले की उच्चस्तरीय जांच बैठाने की भी मांग की है। दूसरी तरफ मायावती ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मामले में बीजेपी के कुछ नेता मन पर बोझ की बात कहकर मामले से छुटकारा पाना चाहते है।

योगी सरकार ने गठित की तीन सदस्यीय समीति

आपको बता दें कि 15 मई को वाराणसी के कैंट इलाके में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से करीब 18 से भी अधिक लोगों की मौत हो गई जबकि कई इस हादसे में घायल हो गए थे। आज सुबह से ही प्रशासन ने मामले की जांच शुरु कर दी है। दूसरी ओर कई लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है। यूपी के सीएम योगी ने मामले में तत्काल जांच करवाने के लिए एक तीन सदस्यीय कमेटी का गठन भी किया है ताकि आरोपी जल्द पकड़े जाए।

यूपी के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर का विवादित बयान

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी वाराणसी हादसे में ट्विटर पर ट्विट कर सवेंदना जताई है। उन्होंने लिखा है कि योगी सरकार को इस मामले में जल्द से जल्द जांच पक्रिया खत्म करनी चाहिए ताकि लोगों को जल्दी न्याय मिल सकें। उन्होंने अपने वाराणसी के कार्यकर्ताओं से भी अपील की है कि वे भी बचाव दल को सहयोग करें। इस घटना पर राज बब्बर ने विवादित बयान दिया है। राज बब्बर का कहना है कि लोगों को लगता है कि मंदिर तोड़कर फ्लाईओवर बनाया, इसलिए यह हादसा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *