Type to search

खबर राजनीति

जानिए कैसे शिवपाल सिंह को ‘फिरोजाबाद’ से मिलेगी कड़ी टक्कर

आने वाले 2019 लोकसभा चुनाव में फिरोजाबाद सीट बचाने के लिए सपा ने अभी से मोर्चेबंदी शुरू कर दी है। रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव यहां से सांसद हैं। सपा के लिए मुश्किल यह है कि शिवपाल यादव ने फिरोजाबाद सीट से चुनाव लड़ने का इशारा दिया है। ऐसे में अब सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को खुद आगे आना पड़ा है।



शुक्रवार को मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, चचेरे भाई और राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव व सांसद अक्षय यादव संग फिरोजाबाद के नागला छबरैया पहुंचे। कारगिल शहीद सम्मान समारोह में जुटी भारी भीड़ के सामने मुलायम सिंह यादव ने अक्षय यादव का हाथ उठवा कर उसे ही चुनाव जिताने की अपील कर दी। मुलायम ने इस इलाके से अपने पुराने नाते को याद किया और जनता से इसी रिश्ते की दुहाई दी। वह खुद यहां की शिकोहाबाद विधानसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं।




पिछले दिनों शिवपाल यादव ने फिरोजाबाद में रोड शो कर कहा था कि अगर जनता व कार्यकर्ताओं चाहेंगे तो यहां से चुनाव लड़ सकते हैं। इसी सक्रियता से सपा खेमे में अंदर ही अंदर खलबली सी है। सपा से पूरी तरह अलग हो चुके शिवपाल अब उसी वोट बैंक के भरोसे हैं। सपा को खतरा यह है कि शिवपाल यादव की पार्टी उन्हीं के वोट काटेगी और इससे बीजेपी को खासा फायदा हो सकता है।

पिछले लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने मोदी लहर में जिन 5 सीटों पर कब्जा किया था, उसमें फिरोजाबाद भी है। और बात फिरोजाबाद तक ही नहीं है। सपा की बाकी चार सिटिंग सीट मैनपुरी, कन्नौज, आजमगढ़ व बदायूं पर भी यह खतरा है। इन पांचों सीटिंग सीट पर आने वाली चुनावी जंग में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की मौजूदगी इन सीटों पर सपा के समीकरणों पर प्रतिकूल असर डाल सकती है।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *