‘नेताजी’ को माया-अखिलेश का पोस्टर होलिका में जलाना पड़ा महंगा, केस दर्ज !

उत्तर प्रदेश में बीजेपी नेता रामबाबू द्विवेदी ने 20 मार्च होलिका वाले दिन आग में मायावती और अखिलेश यादव की तस्वीरों को जलाया था। अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया और खुद अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से होलिका दहन की तस्वीरें पोस्ट कर बीजेपी को घेरने की कोशिश की है। फिलहाल रामबाबू द्विवेदी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। जब तस्वीरें वायरल होने लगी तो रामबाबू ने अपनी सफाई में कहा था कि, ‘होलिका दहन की मान्यता है कि एक बुआ अपने भतीजे को लेकर आग में बैठी थी। जिसमें हुआ जलकर भस्म हो गई थी और भतीजा बच गया था। हमने भी इसी मान्यता के तहत दोनों बुआ-भतीजे को भस्म कर दिया’।

इस घटना के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘बाराबंकी के इस होलिका दहन का संदेश स्पष्ट है। बीजेपी काल में पिछड़े और दलितों को ऐसे ही जलाया-दबाया जाएगा जैसे सदियों से हुआ है। बीते पांच वर्षों में दलित और पिछड़ों का बहुत ज्यादा अपमान हुआ है और उनके साथ होने वाले अन्याय ने सारी हदे पार कर दी है। अब वंचित वर्गों का आक्रोश बीजेपी को जल्द दिखाई देगा’।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |