Type to search

नयी खबर
मनोहर पर्रिकर की वो आखिरी इच्छा जो पूरी नहीं हो सकी…प्रियंका गांधी ने बताया- ‘इस वजह से उनको घर से निकलकर राजनीति में आना पड़ा’मायावती और अखिलेश के ‘वार’ के बाद प्रियंका गांधी की दो टूक…जब पर्रिकर के एक फैसले ने बचाए थे देश के 49,300 करोड़ रुपयेमायावती के बाद अब अखिलेश यादव का कांग्रेस पर ‘ट्वीट वार’प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर तीखा हमला, चौकीदार तो अमीरों के होते हैंसपा-बसपा को कांग्रेस के ‘रिटर्न गिफ्ट’ पर मायावती की खरी-खरीकेंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने प्रियंका गांधी को लेकर दिया विवादित बयान,देखें वीडियोतो इस वजह से अखिलेश ने अपर्णा को नहीं उतारा चुनावी मैदान में…गांधी खानदान में इंदिरा गांधी के बाद प्रियंका गांधी पहुंची यहाँ, जानेजानें कांग्रेस के सपा-बसपा-RLD गठबंधन के लिए 7 सीट छोड़ने के क्या हैं मायने!मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए ठोका दावा
खबर देश

Video: प्रियंका की ‘रावण’ से मुलाकात के बाद मायावती कर सकती हैं ये बड़ा काम!

Share
Video प्रियंका की 'रावण' से मुलाकात के बाद मायावती कर सकती हैं ये बड़ा काम!

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुलाकात की तो बीएसपी सुप्रीमो मायावती आगबबूला हो गईं।सूत्रों के मुताबिक शायद रायबरेली और अमेठी से बसपा उम्मीदवार भी उतारने की सोच रही हैं।

कांग्रेसी सूत्रों की मानें तो कांग्रेस बीएसपी से सूद समेत हिसाब बराबर करना चाहती है। गठबंधन में कांग्रेस का रास्ता अगर मायावती ने रोका है, तो कांग्रेस इसका करारा जवाब देने की तैयारी में है। चंद्रशेखर उर्फ रावण से मुलाकात करके दलित मतों को लुभाने की कोशिश बात ही नहीं है। उत्तर प्रदेश में जहां-जहां बीएसपी लड़ेगी, वहां-वहां कांग्रेस मजबूत प्रत्याशी उतारने की सोच रही है। जो जीते भले ही ना, लेकिन बसपा को जीतने ना दे, भले ही बीजेपी सीट निकाल ले जाए। कई जगह बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी के सामने कांग्रेस से भी मुस्लिम प्रत्याशी उतारने की बात सोची जा रही है, ताकि मुस्लिम वोट बंट जाए।

इसके उलट जहां सपा के उम्मीदवार उतर रहे हैं, वहां कांग्रेस नूरा कमजोर उम्मीदवार उतारने की सोच रही है। कांग्रेस की पूरी कोशिश है कि वो प्रदेश में अगर नंबर तीन पर न पहुंच पाए तो प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब देख रहीं मायावती के सपनों को चूर-चूर जरूर कर दे।

वहीं मेरठ के आनंद हॉस्पिटल में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण से मिलकर तो प्रियंका गांधी चली गई। लेकिन उनके आने से पहले और मिलने तक भीम आर्मी के सदस्यों ने जबरदस्त विरोध किया। उन्होंने कहा कि यहां पर कोई राजनैतिक मुलाकात का औचित्य बनता ही नहीं क्योंकि ना तो हमने उन्हें बुलाया है ना ही कोई आमंत्रण भेजा है। ऐसे में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर के साथ यह मुलाकात कर प्रियंका गांधी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दलितों की सियासत में हलचल मचा दी है।

Tags:

You Might also Like

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

%d bloggers like this: