ये काम करते ही मर जाती है मधुमक्खियां, जानिए क्यों?

मधुमक्खी का जीवन देखने में जितना सरल लगता है, उतना होता नहीं है। लोग अक्सर ऐसा सोचते हैं कि मधुमक्खी का जीवन कितना सुखमय होता है, उनके जीवन का लक्ष्य केवल भोजन होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। मनुष्य का जीवन जितना जटिल होता है उतना ही जटिल मधुमक्खी का जीवन भी होता है।

मधुमक्खी के वंश में एक रानी मधुमक्खी, कुछ नर मधुमक्खियां और कमेरी मधुमक्खियां होती हैं। आमतौर पर रानी मधुमक्खी 6-12 दिन की आयु में संभोग करती है, 8-10 नर मधुमक्खियां रानी मधुमक्खी के साथ संभोग करते हैं। रानी मधुमक्खी संभोग के 3-4 दिन बाद अंण्डे देती है। रानी मधुमक्खी दो तरह के अंण्डे देती हैं, पहला फर्टिलाइज्ड और दूसरा अनफर्टिलाइज्ड। फर्टिलाइज्ड अंण्डो से कमेरी और रानी मधुमक्खी जन्म लेती है और अनफर्टिलाइज्ड अंण्डो से नर मधुमक्खी पैदा होते हैं।

नर मधुमक्खी का कार्य केवल रानी मधुमक्खी के साथ संभोग करना होता है। नर मधुमक्खी 9-13 दिन के आयु के दौरान संभोग करते हैं, संभोग के समय नर मधुमक्खी का प्रजनन अंग रानी मधुमक्खी में कटकर रह जाता है। संभोग के बाद नर मधुमक्खी मर जाते हैं।



मधुमक्खी 24 किलो मीटर की रफ्तार से उड़ती हैं, वो एक सेकंड में 200 बार पंख हिलाती हैं, कुत्तों की तरह मधुमक्खियों के अंदर भी सुंघने की क्षमता होती हैं।

जानिए मधुमक्खी के बारे में कुछ रोचक तथ्य

(1) 40 लाख फूलों के रस को चूसने के बाद 1 किलो शहद बनता है।

(2) सभी जीव-जंतुओं में मधुमक्खी की भाषा जटिल होती है।

(3) एक छत्ते में दो रानी मधुमक्खियां नहीं रह सकती हैं।

(4) रानी मधुमक्खी एक दिन में 2000 अंडे देती है।

(5) शहद हजारों साल तक खराब नहीं होता है।

(6) केवल मादा मधुमक्खी ही शहद बना सकती है।

(7) मधुमक्खियों में 20,000 प्रजातियां पाई जाती हैं, लेकिन केवल 4 मधुमक्खी शहद बना सकती हैं।

(8) अफ्रीकीकृत मधुमक्खियों को हत्यारा मधुमक्खियों के रूप में जाना जाता है।

(9) शहद की मधुमक्खी की केवल सात प्रजातियों की पहचान की जाती है, जिनकी कुल 44 उप-प्रजातियां हैं 

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |