यहाँ सर्च करे

क्या कहते है 5 राज्यों में सभी एग्जिट पोल, देखे चाणक्य समेत सभी 8 सर्वे

  • 6
    Shares

जैसे ही 7 तारीख को राजस्थान और तेलंगाना की चुनाव प्रक्रिया थमीं तभी से ही सभी मीडिया चैनल के एग्जिट पोल्स सामने आने लगे। जहां इस बार तमाम सर्वे कांग्रेस के पक्ष आते देखे जा रहे है तो वहीं इसके साथ ही भाजपा को कड़ी शिकस्त मिलती नजर आ रही है। कहीं दोनों पार्टियों में कड़ी तक्कर देखने को मिली रही है तो कहीं भापजा जीत के ओर बढ़ती दिख रही है। लेकिन आखिर एग्जित पोल्स कह क्या रहे है? कितनी सीटें दिखा रहे है औऱ कितनी हेराफेरी दिख रही है। देखें..

1.मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश में 230 सीटों हैं। यहां 28 नवंबर को वोटिंग हुई थी। 75 % लोगों ने यहां मतदान किया था और अब तक यहां 8 सर्वे सामने आए है जिसमें पांच में कांग्रेस को बहुमत मिलता देखा जा रहा है। वहीं 2013 में भाजपा ने 230 में से 165 सीटें तो कांग्रेस ने 58 सीटें जीती थी।

2. राजस्थान

राजस्थान में 200 विधानसभा सीटें है जिसमें की 199 सीटों पर मतदान शुक्रवार को हुआ। जहां अभी राज्य में 6 सर्वे सामने आए है जिसमें 4 में कांग्रेस अपनी सरकार बनाती नजर आ रही है। वहीं 2013 में भाजपा ने यहां 163 तो कांग्रेस ने मात्र 21 सीटें जीती थी।

3. छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में कुल 90 सीटें है। जहां 12 नवंबर को और 20 नवंबर को दो चरणों में वोटिंग हई। यहां 76.35 % मतदान हुआ। वहीं सर्वे की बात करे तो यहां मुकाबला बराबरी का है। बता दें यहां 8 सर्वे हुए जिनमें भाजपा भी और कांग्रेस भी 4-4 पर आगे है। वहीं पिछली बार यहां भाजपा ने 49 तो कांग्रेस ने 39 सीटें जीती थी , साथ ही बसपा के खाते भी एक सीट गई थी, लेकिन उनका वोट 4.4% रहा था। वहीं इस बार यहां बसपा औऱ जोगी की छजकां एक साथ है।




4. तेलंगाना

तेलंगाना राज्य में 119 सीटें है। यहां शुक्रवार को वोटिंग हुई। 2104 में यहां पहली बार चुनाव हुए, पहले ये आंध्रप्रदेश में आता था। तो यहां 2014 में हुआ चुनाव में तेलंगाना राष्ट्र समिति ने 63, कांग्रेस ने 21, तेदेपा ने 15, एआईएमआईएम ने 7 और भाजपा ने 5 सीटें जीती थीं। तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने छह महीने पहले ही विधानसभा भंग करने की मांग की थी जिस वजह से यहां जल्दी चुनाव हो रहे है। वहीं उस बार कांग्रेस और तेदेपा एक साथ चुनाव में गई है। इस बार के सर्वे की बात करे तो यहां पर 4 सर्वे सामने आए जिनमें सभी एग्जित पोल ने टीआरएस की सरकार बनने का अनुमान जताया गया है।

5. मिजोरम

इस राज्य में 40 विधानसभा सीटें है। यहां 28 नवंबर को मतदान हुआ। बता दें कि यहां कांग्रेस 10 साल से सत्ता पर काबिज है। तो वहीं मुख्यमंत्री ललथनहवला तीन बार से मुख्यमंत्री हैं। 2013 में यहां कांग्रेस ने 34 सीटें जीती थी। वहीं एमएनएफ को 5 और एमजेडपीसी को 1 सीट मिली थी। मिजोरम राज्य कांग्रेस की सरकार वाले 4 राज्यों में शामिल है। और वहीं जानकारी के लिए बता दें कि ये पूर्वोत्तर का ऐसा इकलौता राज्य है जहां भाजपा सत्ता से बाहर है। यहां पर अभी दो एग्जिट पोल सामने आए जिसमें एमएऩएफ को कांग्रेस से ज्यादा सीटें मिल रही है।


  • 6
    Shares
Tags::

You Might also Like

न्यूज़१ इंडिया की खबरों को पाने के लिए ALLOW बटन पर क्लिक करे|