Type to search

खबर राजनीति

जब अटल जी ने पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह को बताया था ‘बारात का दूल्हा’

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की जयंती 25 दिसंबर को मनाई जा रही है और पूरा देश अटल जी को दिल से याद कर रहा है। अटल जी के जन्मदिन से एक दिन पहले 24 दिसंबर को उनका नाम का 100 रुपए का सिक्का पीएम मोदी ने जारी कर उनका सम्मान दिया है। अटल जी तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रह चुके थे और इसी साल अगस्त के महीने में उनका निधन हो गया था।



अटल जी जितने अच्छे नेता थे उतने अच्छे वो वक्ता भी थे। वो जब भी किसी जनसभा को संबोधित करने जाते थे तो लोग उनको बहुत ही अच्छे से सुनना पसंद करते थे। इसी तरह का एक किस्सा है जब पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह को अटल जी ने बारात का दूल्हा बताया था। दरअसल साल 1984 में इंदिरा गांधी की मृत्यु के बाद देश में आम चुनाव हुए थे तो कांग्रेस को प्रचंड बहुमत मिला था और 401 सीट के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर ऊभरी थी। लेकिन साल 1987 में बोफोर्स कांड के बाद कांग्रेस की लोकप्रियता धीरे-धीरे कम होने लगी थी।




इसके बाद कांग्रेस नेता वीपी सिंह कांग्रेस से अलग हो गए थे और मजबूत कांग्रेस को चुनाव में टक्कर देने के लिए उन्होंने सारी विपक्षी पार्टियों को एकत्र करने की कोशिश करने लगे थे। इसी दौरान चर्चा तेज होने लगी कि वीपी सिंह बीजेपी के साथ भी गठबंधन कर सकते हैं। फिर जब अटल जी और वीपी सिंह दोनों एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए तो एक पत्रकार ने अटल जी से सवाल किया कि क्या सरकार बनने के बाद आप प्रधानमंत्री होंगे ? तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि ‘इस बारात के दूल्हा वीपी सिंह हैं’।

Tags:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *