Type to search

नयी खबर
Holi 2019 : अब भांग का नशा उतरेगा आसानी सेHoli 2019 : इन चीज़ों की मदद से त्वचा से छुड़ाए होली के रंगHoli 2019 : होली पर किसी भी तरह की शैतानी पड़ेगी महंगी Holi 2019 : होली के चलते मेट्रो के समय में बदलावHoli 2019 : अचानक घर आने वाले मेहमानों से परेशान न हो…Holi 2019 : स्किन और बालों की फ़िक्र छोड़, जमकर खेलें होलीHoli 2019 : जानें, कितने नुकसानदायक हैं ये चमचमाते होली के रंगजानें,होली पर किस राशि के जातकों के लिए नशा करना है बुराHoli 2019 : इन गानों बिना होली का त्यौहार अधूरा हैरिश्तेदार के कांग्रेस में शामिल होने पर महेंद्र नाथ पाण्डेय ने दिया बड़ा बयानबीजेपी के ‘शत्रु’ जाएंगे कांग्रेस के साथ, पटना साहिब से लड़ेंगे चुनाव !जानें हिंदुस्तान की राजनीति में किस नेता ने वंशवाद को दिया बढ़ावा
खबर देश

जब ‘निर्भया कांड’ से दहल उठा था पूरा देश, जानिए पूरी कहानी

Share

ठीक 6 साल पहले आज ही के दिन देश की राजधानी दिल्ली में एक ऐसा दर्दनाक हादसा हुआ था, जिसने ना सिर्फ पूरी दिल्ली बल्कि पूरा देश को हिला कर रख दिया था। इस घटना के बाद पूरे देश के लोगों में आक्रोश की बाद दहकने लगी थी। हम 2012 में घटी निर्भया कांड की बात कर रहे हैं।

दरअसल, 16, दिसंबर 2012 की रात को एक चलती बस में 6 दरिंदों ने 23 साल की निर्भया के साथ हैवानियत का ऐसा खेल खेला जिसे सुन आज भी देश की जनता के आंख में आंसुओं की धारा बहने लगती है। दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात चलती बस में निर्भया के साथ 6 दरिंदों ने सामुहिक बलात्कार किया था। रात का समय होने के कारण कोई और साधन ना मिलने के कारण लड़की अपने पुरुष मित्र के साथ उस प्राइवेट बस में बैठ गई। लड़की के बस में बैठने के तुरंत बाद अपराधियों ने उसके साथ छेड़छाड़ करना शुरु कर दिया। यह सब होता देख लड़की के साथी ने अपराधियों का विरोध करना शुरु कर दिया। जिससे अपराधियों ने लड़के को बुरी तरह पीट कर लहुलुहान कर दिया। इसके बाद सभी अपराधियों ने बारी बारी से युवति का रेप किया। इतना ही नहीं युवति का रेप करने बाद एक अपराधी ने उसके प्राइवेट पार्ट में जंग लगी लोहे की रोड डाल दी। इस दरिंदगी के कारण युवति की अंतड़िया बाहर आ गई। खून से लथपथ युवति नग्न अवस्था में बस से बाहर फेंक दिया, उसके साथ उसके साथी मित्र को भी लहुलूहान हालत में बस से फेंक दिया। हालांकि इंटरव्यू के दौरान युवति के साथी ने बताया कि उसने सड़क पर चलती हुई कई गाड़ियों को रोका था लेकिन किसी ने भी मदद के लिए हाथ आगे नहीं बढ़ाया।14 दिन तक जिन्दगी और मौत की बीच जूझने के बाद 29 दिसंबर को निर्भया ने दम तोड़ दिया था।

Tags:

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

%d bloggers like this: