जानें कौन है राजीव कुमार जिसके लिए बंगाल की राजनीति में आया भूचाल

CBI ने रविवार शाम को कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर पर छापेमारी की कोशिश की तो हंगामा मच गया पुलिस कमिश्नर से पूछताछ की के लिए पहुंची CBI टीम को पुलिस ने घेर लिया और फिर विधान नगर थाने ले गई इसके बाद CBI के अधिकारियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया, लेकिन बाद में छोड़ दिया वहीं, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को बचाने के लिए खुलकर आ गईं उन्होंने सबसे पहले पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर का दौरा किया और फिर कोलकाता के मेट्रो चैनल पर धरना पर बैठ गईं ममता बनर्जी के साथ कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी धरने पर बैठे है

इस घटना के बाद से राजीव कुमार सुर्खियों में आ गए हैं अब यहां सवाल यह उठ रहा है कि आखिर राजीव कुमार कौन हैं, जिनके लिए ?ममता बनर्जी पूरी रात धरने पर बैठी रहीं

कौन हैं राजीव कुमार?

बंगाल की सियासत में भूचाल लाने वाले कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार चंदौसी के हैं उनकी मां और चंदौसी में ही रहते हैं बताते हैं कि राजीव कुमार के पिता आनंद कुमार चंदौसी के एसएम कालेज में प्रोफेसर थे इसके बाद उनका परिवार यहीं बस गया जानकारों का कहना है कि राजीव कुमार का परिवार कभी लखनऊ के निराला नगर में रहता था उनकी प्रारंभिक शिक्षा ट्रांस गोमती के माउंट कार्मेल स्कूल में हुई थी राजीव कुमार 1989 बैच के पश्चिम बंगाल कैडर के IPS अधिकारी हैं वो कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) चीफ के रूप में भी काम कर चुके हैंराजीव कुमार ने शारदा और रोज वैली चिटफंड घोटाला मामले की जांच करने वाली स्पेशल इनवेस्टिगेशन टीम (SIT) का भी नेतृत्व किया था



यह चिटफंड घोटाला साल 2013 में सामने आया थाकोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को ममता बनर्जी का बेहद भरोसेमंद माना जाता है उनको साल 2016 में सुरजीत कर पुरकायस्थ की जगह कोलकाता का पुलिस कमिश्नर बनाया गया था साथ ही पुरकायस्थ को प्रमोट करके सीआईडी डिपार्टमेंट भेज दिया गया था इससे पहले राजीव कुमार विधाननगर पुलिस कमिश्नरी में बतौर पुलिस कमिश्नर तैनात रह चुके हैं CBI ने इस मामले के कई अहम दस्तावेजों के कथित तौर पर गायब होने पर राजीव कुमार और अन्य अधिकारियों से जांच में सहयोग करने को कहा था, लेकिन वो CBI के सामने पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए

बता दें कि बहुचर्चित शारदा और रोज वैली चिटफंड घोटाले मामले में तृणमूल कांग्रेस के कई नेता भी आरोपी हैं इस मामले में कई TMC नेताओं को जेल भी भेजा जा चुका है पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को दुनिया का सबसे ईमानदार अधिकारी बताया है ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा, ‘कोलकाता के पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे बेहतरीन अधिकारियों में से एक हैं उनकी सत्यनिष्ठा, बहादुरी और ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है वो 24 घंटे काम करते हैं’ उन्होंने बीजेपी पर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि झूठ हमेशा झूठ ही रहता है इस दौरान ममता ने ट्वीट कर बीजेपी नेतृत्व पर घटिया राजनीति करने का भी आरोप लगाया उन्होंने कहा कि बीजेपी नेतृत्व न सिर्फ राजनीतिक पार्टियों को ही निशाना बना रहा है, बल्कि वो पुलिस को नियंत्रण में लेने और सभी संवैधानिक संस्थानों को नष्ट करने के लिए पावर का गलत इस्तेमाल भी कर रहा हैहम इसकी कड़ी निंदा करते हैं

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |