बारिश के दौरान क्यों गिरते हैं ओले ? जानिए

हमने अक्सर देखा है कि, कई बार जब बारिश होती है तो उसके साथ बर्फ के छोटे-छोटे टुकड़े भी जमीन पर गिरते हैं। इन बर्फ के टुकड़ों को हम ओले कहते हैं। लेकिन क्या किसी ने कभी सोचा है कि आखिर आसमान में ये बर्फ के गोले कहां से आते हैं और ये क्यों गिरते हैं ? ये तो सभी को पता है कि, पानी के जमने की वजह से बर्फ बनती है और बर्फ पानी की ही अवस्था है। जैस-जैसे हम समुद्र तल से ऊंची ओर की तरफ जाएंगे तो तापमान में गिरावट होने लगती है और यही वजह है कि पहाड़ों पर ठंड होती है।



वाष्पोत्सर्जन एक प्रक्रिया है जिसकी वजह से तालाब, समुद्र और नदियों का पानी भाप बनकर हवा में ऊपर उठता है और यही बादल का रूप ले लेता है जिससे बारिश होती है। लेकिन, जब आसमान का तापमान काफी कम हो जाता है और बारिश होने वाली होती है, तो हवा में मौजूद नमी संघनित हो जाती है और ये पानी की बूंदों के रूप में जम जाती है। ये प्रक्रिया बार-बार होती है और इस वजह से ये बर्फ के गोले के आकार में बनकर धरती पर बरस जाते हैं।

जब बर्फ के गोले धरती पर बरसते हैं तो वायुमंडल में मौजूद गर्म हवाओं से टकराकर ये पिघलने लग जाते हैं और बारिश हो जाती है। लेकिन जो टुकड़े काफी सख्त होते हैं और जो पिघलते नहीं है वो ओले के रूप में बारिश के साथ धरती पर बरस जाते हैं। आमतौर पर जब ओले गिरते हैं तो आसमान में गड़गड़ाहट काफी तेज आवाज होती है और साथ ही बिजली भी काफी ज्यादा चमकती है।

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |

नोट: अगर आप के पास इस खबर से जुडी कोई भी वीडियो है तो आप अपने नाम के साथ इस नंबर पर WhatsApp (8766336515) करे |