Type to search

नयी खबर
पुलवामा हमला: हरियाणा में कश्मीरी छात्रों को किया गया पीजी से बाहरभारतीय सेना के खिलाफ पोस्ट करना गुवाहाटी प्रोफेसर को पड़ा भारी, कॉलेज से निलंबितजापान ने भारत के लिए तोड़ी अपनी वर्षों पुरानी कसम, जानिएभारत का पाकिस्तान के साथ हुआ युद्द तो ये देश देंगे साथ?कश्मीर के वो 6 युवा जिनको देश करता है सलाम, पीएम मोदी भी कर चुके हैं तारीफSBI ने एक बार फिर अपने ग्राहकों के लिए जारी की ये चेतावनी,कहा-इन नंबरों…पुलवामा आंतकी हमले के बाद यूएस ने भारत को दि जवाबी कार्रवाई की सहमति, कही बड़ी बातभारत ने पाकिस्तान पर इस तरह की सर्जिकल स्ट्राइक! जानेंअब ये उद्योगपति आगे आया पुलवामा शहीद जवानों के परिवार की मदद के लिए,जानेंपुलवामा हमला: T-Series ने पाकिस्तानी सिंगर को दिया बड़ा झटका, कर दिया ‘Unlist’Best Toilet Paper In The World में पाकिस्तान का झंड़ाजवान के अंतिम संस्कार के दौरान हंसते दिखे साक्षी महाराज, लोगों ने लगाई लताड़
Republic Day

Republic Day 2019: संविधान लागू करने के लिए 26 जनवरी को ही क्यों चुना गया ?

Share
Republic Day 2019: संविधान लागू करने के लिए 26 जनवरी को ही क्यों चुना गया ?

आज भारत के सभी नागरिकों के लिए काफी ज्यादा गौरव और सम्मान का दिन है क्योंकि भारत आज 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। 15 अगस्त 1947 को हमारा देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था और हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान की कुर्बानी देकर भारत को स्वतंत्र किया था।

आजादी के ढाई साल बाद 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू किया गया था। लेकिन अगर सोचा जाए तो 26 जनवरी 1950 का ही दिन क्यों चुना गया था संविधान लागू करने के लिए ?

आखिर क्यों 26 जनवरी 1950 को भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य बना ? इसके पीछे भी एक कारण है। दरअसल, हमारे जो स्वतंत्रता सेनानी थे उन्होंने 26 जनवरी 1930 को भारत को आजाद कराने की तारीख तय कर ली थी।

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 31 दिसंबर 1931 को लाहौर में तिरंगा फहराते हुए पूर्ण स्वराज की मांग कर दी थी। इसलिए जब संविधान लागू करने की तारीख तय करने की बात सामने आई तो सभी ने 26 जनवरी 1950 को चुना और इस दिन गणतंत्र दिवस के साथ ही पूर्ण स्वराज दिवस भी मनाया जाता है।

Tags:

You Might also Like

%d bloggers like this: