Type to search

नयी खबर
भारतीय सेना के खिलाफ पोस्ट करना गुवाहाटी प्रोफेसर को पड़ा भारी, कॉलेज से निलंबितजापान ने भारत के लिए तोड़ी अपनी वर्षों पुरानी कसम, जानिएभारत का पाकिस्तान के साथ हुआ युद्द तो ये देश देंगे साथ?कश्मीर के वो 6 युवा जिनको देश करता है सलाम, पीएम मोदी भी कर चुके हैं तारीफSBI ने एक बार फिर अपने ग्राहकों के लिए जारी की ये चेतावनी,कहा-इन नंबरों…पुलवामा आंतकी हमले के बाद यूएस ने भारत को दि जवाबी कार्रवाई की सहमति, कही बड़ी बातभारत ने पाकिस्तान पर इस तरह की सर्जिकल स्ट्राइक! जानेंअब ये उद्योगपति आगे आया पुलवामा शहीद जवानों के परिवार की मदद के लिए,जानेंपुलवामा हमला: T-Series ने पाकिस्तानी सिंगर को दिया बड़ा झटका, कर दिया ‘Unlist’Best Toilet Paper In The World में पाकिस्तान का झंड़ाजवान के अंतिम संस्कार के दौरान हंसते दिखे साक्षी महाराज, लोगों ने लगाई लताड़भारत से डरा पाकिस्तान, खौफ में कर रहा है ये काम!
खबर देश

योगी का बड़ा ऐलान- ‘मात्र 24 घंटे में सुलझा सकते हैं अयोध्या विवाद अगर…’

Share
योगी का बड़ा ऐलान- ‘मात्र 24 घंटे में सुलझा सकते हैं अयोध्या विवाद अगर...’

साल 1992 से ही अयोध्या विवाद हमारे देश में एक बड़ा विवाद रहा है और इसका हल निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चलेगी। अभी तक इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कोई फैसला नहीं सुनाया है और इसी को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि, ‘राम मंदिर पर जनता का धैर्य खत्म हो रहा है और अगर सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर अपना फैसला सुनाने में असमर्थ है, तो इसे हमें सौंप देना चाहिए’।

योगी ने आगे कहा कि, ‘सुप्रीम कोर्ट ये मामले हमें सौंप देती है तो हम अयोध्या मामले का हल सिर्फ 24 घंटे में निकाल लेंगे’। उन्होंने कहा कि, ‘मैं सुप्रीम कोर्ट से ये अपील करता हूं कि, इस मामले का निपटारा जल्द से जल्द हो। 30 सितंबर 2010 में जब इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमीन बंटवारे पर अपना फैसला सुनाया था, तो कोर्ट ने ये भी माना था कि, हिन्दू मंदिर या स्मारक को तोड़कर ही बाबरी ढांचे को बनाया गया था। हाइकोर्ट के इस आदेश में आर्किलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में भी ये बात सामने आई है’।

योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट से अपील करते हुए कहा है कि, ‘बेवजह मालिकाना हक की वजह से अयोध्या विवाद को आगे खींचा जा रहा है। हम सुप्रीम कोर्ट से ये अपील करते हैं कि, इस मामले को लेकर जल्द से जल्द अपना फैसला सुनाना चाहिए ताकि हम जनता के विश्वास का प्रतीक बन सकें। लेकिन फैसला आने में देरी होगी तो जनता का विश्वास तेजी से खो जाएगा’।

Tags:

You Might also Like

%d bloggers like this: